ब्रेकिंग न्यूज़
मैट्रिक में समस्तीपुर के दुर्गेश ने बिहार में द्वितीय स्थान हासिल किया, टॉप टेन में समस्तीपुर के हैं पांच छात्रसमस्तीपुर में ट्रेन रोकने पर प्रवासियों ने काटा बवालसीबीएसई की बाकी परीक्षाएं 1 से 15 जुलाई तक आयोजित, 3 की जगह 15 हजार बनाए गए परीक्षा केन्द्र, अपने ही स्कूल में होगी परीक्षामैट्रिक परीक्षा का परिणाम मंगलवार दोपहर साढ़े 12 बजे सेसमस्तीपुर में एक युवक की गिरफ्तारी के विरोध में सड़क जाम, किया आगजनीमोतिहारी की महिला का समस्तीपुर प्लेटफार्म पर हुआ प्रसवसमस्तीपुर में बाइक लूटने के दौरान दंपति को मारी गोली, पति जख्मीमोतिहारी के राजू ऑटिकल्स Whatsapp से ले रहे चश्मों का आर्डर, लॉकडाउन में मिल रही सुविधा, फ्री होम डिलेवरी
बिज़नेस
भूख हड़ताल पर गए बीएसएनएल के कर्मचारी, वीआरएस के लिए मजबूर करने का आरोप
By Deshwani | Publish Date: 25/11/2019 2:41:08 PM
भूख हड़ताल पर गए बीएसएनएल के कर्मचारी, वीआरएस के लिए मजबूर करने का आरोप

नई दिल्‍ली। खस्ताहाल हो चुकी सार्वजनिक कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के कर्मचारी आज (सोमवार) देशव्यापी भूख हड़ताल पर हैं। दरअसल कर्मचारी यूनियनों का यह आरोप है कि कंपनी प्रबंधन कर्मचारियों को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) लेने के लिए मजबूर कर रहा है। कर्मचारी यूनियनों ने इसके विरोध में आज पूरे देश के बीएसएनल कर्मचारियों से हड़ताल करने का आह्वान किया है।

 
देशव्‍यापी भूख हड़ताल के बारे में ऑल इंडिया यूनियंस एंड एसोसिएशंस ऑफ भारत संचार निगम लिमिटेड (एयूएबी) के संयोजक पी. अभिमन्‍यु ने यहां कहा कि प्रबंधन कर्मचारियों को धमका रहा है कि वीआरएस नहीं लेने पर उनका ट्रांसफर किया जा रहा है और सेवानिवृत्ति की आयु घटाकर 58 साल की जा सकती है। हालांकि, उन्होंने कहा कि वीआरएस कर्मचारियों के हित में है। लेकिन, इससे निचले स्‍तर के कर्मचारी को नुकसान होगा। 
 
उधर, बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक पी के पुरवार के मुताबिक 77 हजार से अधिक कर्मचारियों ने वीआरएस का चुनाव अभी तक किया है। उल्लेखनीय है कि बीएसएनएल कंपनी में कुल 1.6 लाख कर्मचारी हैं। भारत संचार निगम लिमिटेड का अनुमान है कि यदि 70-80 हजार कर्मचारी वीआरएस ले लेते हैं तो कंपनी का वेतन खर्च सालाना करीब 7,000 करोड़ रुपये कम हो जाएगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS