ब्रेकिंग न्यूज़
दिग्‍व‍िजय भोपाल से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, 30 साल से यहां जीत नहीं पाई है कांग्रेसराम मनोहर लोहिया का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशानासुरक्षाबलों को सर्च अभियान के दौरान मिली सफलता, भारी मात्रा में विस्फोटक और हथियार बरामदहाइवा की चपेट में आने से युवक की मौत, विरोध में लोगों ने किया सड़क जामकांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन में किसान का कर्जा होगा माफ: राहुल गांधीआईपीएल 2019: आईपीएल के शुरुआती 6 मैचों में नहीं खेलेंगे लसिथ मलिंगा, सामने आई ये वजहमणिकर्णिका' के बाद कंगना का बड़ा धमाका, जयललिता की बायोपिक से जुड़ा नामकरमबीर सिंह होंगे अगले नौसेना प्रमुख, सुनील लांबा 31 मई को हो रहे हैं रिटायर
बिज़नेस
जेट एयरवेज का संकट और गहराया, 25 विमान परिचालन से बाहर, शेयरों में गिरावट
By Deshwani | Publish Date: 5/3/2019 3:17:08 PM
जेट एयरवेज का संकट और गहराया, 25 विमान परिचालन से बाहर, शेयरों में गिरावट

नई दिल्ली। लोगों को सस्‍ती हवाई सेवा देने वाली एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज को किराये का भुगतान नहीं कर पाने की वजह से दो और विमानों को परिचालन से हटाना पड़ा है। इस बात की जानकारी कंपनी की ओर से मंगलवार को दी गई है। 

 
इन दो विमानों को परिचालन से हटाए जाने के बाद विमानन कंपनी ने अब तक 25 विमानों को खड़ा कर दिया है, जो कंपनी के बेड़े में शामिल विमानों की संख्या का तकरीबन 20 फीसदी है। कंपनी की ओर से इस बात की जानकारी दी गई है। इससे पहले शनिवार को स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में कंपनी ने कहा है कि किराये पर विमान देने वाली कंपनी के किराये का भुगतान नहीं किए जाने की वजह से दो और विमानों को परिचालन से हटाना पड़ा है।
 
 
जेट एयरवेज एयरलाइन की ओर से कहा गया है कि वह विमान किराए पर देने वाली सभी कंपनियों से बातचीत कर रही है। साथ ही उन्हें नकदी संकट की स्थिति को सुधारने की दिशा में उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दी जा रही है। कंपनी ने कहा कि वह विमानों को परिचालन से हटाए जाने की वजह से यात्रियों को होने वाली परेशानियों को हर संभव कम करने की कोशिश कर रही है।इसके साथ ही विमानन कंपनी नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को भी लगातार सूचनाएं मुहैया करा रही है। 
 
 
जेट एयरवेज के बोर्ड की तरफ से बैंकों के समाधान योजना को मंजूरी दिए जाने के बाद भी अभी तक नकदी संकट की स्थिति से नहीं निपटा जा सका है, जिसका असर कंपनी के शेयरों पर साफ दिख रहा है। पिछले एक साल में जेट एयरवेज का शेयर करीब 65 फीसदी से अधिक तक टूट चुका है जबकि इस दौरान एविएशन सेक्टर में करीब 25 फीसदी तक की गिरावट आई है। दिसंबर तिमाही में कंपनी को 587.77 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS