बिहार
नेपाल से वतन लौट रहे भारतीय, प्रजातंत्र के महापर्व मतदान में भाग लेने
By Deshwani | Publish Date: 12/5/2019 12:10:24 AM
नेपाल से वतन लौट रहे भारतीय, प्रजातंत्र के महापर्व मतदान में भाग लेने

 रक्सौल। अनिल कुमार। 

नेपाल में रह रहे भारतीय को अपने वतन की चिंता है। अगली सरकार उनके मन मुताबिक ही होनी चाहिए। इसलिए वे भारत-नेपाल की सीमा रक्सौल के रास्ते भारत आ रहे है। प्रजातंत्र के महापर्व मतदान में भाग लेने। इनके यहा भारत में पूर्वी, पश्चिमी चम्पारण व शिवहर में 12 मई, रविवार को मतदान होना है। आज शनिवार से इनका नेपाल में रह रहे लोगों का रक्सौल बोर्डर से भारत आना शुरू हो गया है।

10 मई को बॉर्डर सील किया गया है-
यहां बदा दे कि कल शुक्रवार यानी 10 तारीख यानी शुक्रवार की शाम करीब सवा 6 बजे से नेपाल बॉर्डर सील कर दिया गया है। वाहनों के आने जाने पर प्रतिबंध है। केवल मतदान देने वालों को वोटर आईडी दिखा कर भारतीय सीमा में जाने की इजाजत है। वहीं मरीजों को लेकर एंबुलेंस ले जाने के लिए छूट दी गई है। मतदान के बाद बॉर्डर खोल दिया जाएगा।

 
भारत-नेपाल सीमा पर नेपाल में काम करने वाले भारतीय नागरिक मतदान करने को लेकर काफी संजिदा दिख रहे हैं। यही कारण है कि नेपाल में नौकरी करने वाले भारतीय नागरिकों का मतदान करने के लिए चुनाव के एक रोज पूर्व अपने वतन लौटने का सिलसिला देर शाम तक जारी रहा। 
 

नेपाल के विभिन्न स्थानों में काम करने वाले भारतीय नागरिकों ने मतदान के लिए शनिवार को अपने वतन को लौटे। भारत-नेपाल की सीमा सील होने के बाद भी वोट डालने के लिए अपने वतन लौटने वाले भारतीय नागरिकों का बॉर्डर पर दिन भर लाइन लगा रहा। इसी क्रम में नेपाल के नारायनघाट में काम करने वाले मोतिहारी निवासी सुमन कुमार, हथौड़ा नेपाल में काम करने वाले लखौरा पूर्वी चंपारण के निवासी सुनील कुमार, बारा के जीतपुर में काम करने वाले मोतिहारी निवासी राम प्रसाद और रक्सौल के हरदिया निवासी बॉर्डर पर तैनात सुरक्षा कर्मियों को अपना भारतीय वोटर आईडी कार्ड दिखाकर भारत में प्रवेश किए। इन लोगो में मतदान करने को लेकर काफी उत्साह देखने को मिला।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS