ब्रेकिंग न्यूज़
आशीष परियोजना डंकन अस्पताल रक्सौल के द्वारा पनटोका पंचायत भवन के प्रांगण में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का आयोजनएक दिवसीय प्रखंड स्तरीय कृषि समन्यवय कार्यक्रम रक्सौल के कृषि भवन में आयोजित, योजनाओं के बारे में किसानों को दी जानकारीपरिवार नियोजन पखवाड़ा के दौरान 429 महिलाओं ने कराई बंध्याकरण, आशा कार्यकर्ता व एएनएम का कार्य सराहनीयट्रेन की छत पर चढ़कर युवक ने किया ड्रामा, हिरासत में लेकर पुलिस कर रही है पूछताछरवीना टंडन ने किया खुलासा, कहा- मेरे पिता को नहीं लगता था कि मैं कभी एक्ट्रेस बन पाऊंगीगर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व व प्रसव के बाद बेहतर देखभाल के लिए की जाती है काउंसलिंगबदलती परिस्थितियों के साथ समय का कोई भरोसा नही, कब पलटी मार जायेप्रधानमंत्री मोदी जी-7 समिट में हिस्सा लेने फ्रांस रवाना, वापसी में यूएई और बहरीन भी जाएंगे
बिहार
मोतिहारी केन्द्रीय विश्वविद्यालय के जमीन अधिग्रहण को अधिकांश संगठन सहित आम व खास लोग एक मंच पर, आंदोलन का हुआ शंखनाद
By Deshwani | Publish Date: 8/7/2018 10:07:20 PM
मोतिहारी केन्द्रीय विश्वविद्यालय के जमीन अधिग्रहण को अधिकांश संगठन सहित आम व खास लोग एक मंच पर, आंदोलन का हुआ शंखनाद

बैठक को संबोधित करते नगदाहा सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष मुन्ना गिरि। फोटो- देशवाणी।

मोतिहारी। देशवाणी न्यूज नेटवर्क।
केन्द्रीय विश्वविद्यालय के लिए भूमि अधिग्रहण में हो रही देर को लेकर जिले आम व खास सभी एकजुट हो रहे हैं। इस मुद्दे को लेकर जिले के अधिकांश संगठन व बुद्धिजीवियों सहित कई गणमान्य लोग रविवार को नगदाहा सेवा समिति के तत्वावधान में शहर के राजा बाजार स्थित जय अंबे कंपलेक्स में इकट्ठा हुए। सभी ने एक मत से कहा कि संघर्ष के बाद ही प्रशासन 134 एकड़ प्रस्तावित भूमि अधिगृहित करेगा।

वरीय पत्रकार ने किया आंदोलन का शंखनाद-

आज के इस बैठक में बताया गया कि केविवि के स्थाना दिवस समारोह में मोतिहारी के तत्कालीन डीएम ने घोषणा की थी कि एक माह के अंदर वे 134 एकड़ जमीन अधिग्रहण करा देंगे। जिसे आजतक पूरा नहीं किया गया।

बैठक की अध्यक्षता वरीय पत्रकार चन्द्रभूषण पाण्डेय कर रहे थें। उन्होंने कहा- कुछ लोगों द्वारा तरह-तरह के नियमों का हवाला देकर भयादोहन करने का षडयंत्र किया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि उच्च शिक्षा के लिए केविवि  जिले की पहली संस्था है। दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रशासन के सकारत्मक पहल नहीं किए जाने अभी तक भूमि अधिग्रहण नहीं हो सका है। जिससे हमें इसके लिए संघर्ष का शंखनाद करना पड़ रहा है।

जन-आंदोलन व कानूनी लड़ाई एक साथ लड़नी होगी- राजेन्द्र गुप्ता

भाजपा के जिलाध्यक्ष राजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि हमें जन-आंदोलन व कानूनी लड़ाई साथ-साथ लड़नी होगी।

जिले की अस्मिता व युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़, जन-आंदोलन की जरूरत-

इस्ट चम्पारण चैम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष सतपाल सिंह छावड़ा, समाजसेवी डॉ शकील सिद्दीकी, पूर्व प्राचार्य शशिकला व पत्रकार सागर सूरज ने इसे प्रशासनिक विफलता बताया। सबों ने बड़े जन-आंदोलन की शुरुआत की वकालत की। वहीं अधिवक्ता नरेन्द्र देव ने कहा कि पूरा विधिज्ञ समाज भूमि अधिग्रहण में हो रही देरी की निंदा करता है। कहा कि उनका समाज तन-मन व धन से इस आंदोलन में सहभागी रहेंगा। इसके साथ ही सास्कृतिकर्मी रविश मिश्रा, समाजसेवी रिपु सूदन तिवारी, प्रह्लाद गिरि, मुखिया अवधेश कुमार व डॉ ओम ने भी सभा को संबोधित किया।

नगदाहा सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष ने चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की-

नगदाहा सेवा समिति के संस्थापक अध्यक्ष मुन्ना गिरि ने भूमि अधिग्रहण लिए चरणबद्ध आंदोलन की घोषणा की। कहा- पूर्व की भांति धरना, प्रदर्शन व हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा।
विषय प्रवेश एवं सभा का संचालन पत्रकार राकेश कुमार ओझा ने किया। बैठक में रोटरी क्लब लेक टाउन के राकेश कुमार सिन्हा, राजा बाजार कचहरी बलुआ टाल व्यवसायी संघ के प्रतिनिधि सहित छात्र कल्याण परिषद के दिवाकर सिंह, पुरुषोत्म, रविकेश मिश्र व आदित्य रिक्की रवि सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

सभा को अपने महत्वपूर्ण विचार पत्रकार अरुण तिवारी, रजीव रंजन, ओर्सेदुर्ररमान, जितेन्द्र देव, मोहन गिरि, मुनटून श्रीवास्तव, पिंकू तिवारी, अरुण गिरि, ज्ञानेश्वर गौतम, आनंद प्रकाश, योगेन्द्र गिरि, मंदीप कुमार, रमेश पंडित व विक्की कुमार ने व्यक्त किए। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS