ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में बलआ के राज मार्केट स्थित दवा दुकानदार की अपराधियों ने रात्रि में गोली मार हत्या कीरक्सौल के ई. कुंदन श्रीवास्तव ने आर्थिक मदद कर सत्याग्रह ट्रेन से आये यात्रियों को दिया भोजन का पैकेटझारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जान
बिहार
विषाक्त प्रसाद खाने से बच्चों समेत 36 से अधिक ग्रामीण बीमार
By Deshwani | Publish Date: 15/5/2019 4:32:15 PM
विषाक्त प्रसाद खाने से बच्चों समेत 36 से अधिक ग्रामीण बीमार

खगड़िया। खगड़िया के मानसी प्रखंड में महेशखूंट थाना अंतर्गत चैधा बन्नी पंचायत में विषाक्त प्रसाद खाने से 36 से अधिक लोग बीमार हो गये। सोमवार की रात में चैधा बन्नी पंचायत की मुखिया लक्ष्मी देवी के देवर पप्पू पासवान के यहां सत्यनारायण भगवान की पूजा थी। इस दौरान प्रसाद वितरण किया गया था। ग्रामीणों ने प्रसाद को खाया और अगले सुबह मंगलवार से तबीयत बिगड़ने लगी। लोगों को उल्टी और चक्कर आने लगा। 

 
जिसके बाद तुरंत सभी मुखिया के दरवाजे पर मदद लेने गये, लेकिन मुखिया जी ने दरवाजा बंद कर लिया। बाद बगल के पंचायत के सरपंच शंकर यादव को इसकी सूचना दी गयी। बाद में सरपंच ने एंबुलेंस के माध्यम से पीड़ितों को गोगरी रेफरल अस्पताल भेजा। वहीं कुछ लोग निजी अस्पताल में इलाज के निकल पड़े। जबकि, 40 से अधिक लोग सदर अस्पताल खगड़िया पहुंचे, यहां उनका इलाज किया जा रहा है। 
 
डॉक्टर के मुताबिक, सभी खतरे से बाहर है। उन्होंने बताया कि विषाक्त प्रसाद के कारण ऐसी घटना घटी है। ग्रामीण अवधेश कुमार, भोले कुमार, राहुल कुमार आदि का कहना था कि प्रसाद बनाने के लिए लाये गये दूध से गंध आ रही थी। उसी दूध से प्रसाद बना दिया गया। इसलिए प्रसाद खाने से लोग बीमार पड़ गये। 
 
जबकि, दूध विक्रेता प्रदीप साह का कहना है वे ताजा दूध दिये थे। दूध में कुछ गिरने के कारण ऐसा हुआ है। इधर, सीएस डॉ दिनेश कुमार निर्मल ने कहा कि सभी बीमार लोग ठीक है। चिंता की कोई बात नहीं है। फूड प्वाइजिंग से घटना हुई है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS