बिहार
2019 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की ही जीत होगी : मुख्यमंत्री नीतीश
By Deshwani | Publish Date: 7/1/2019 4:56:00 PM
2019 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की ही जीत होगी : मुख्यमंत्री नीतीश

पटना। मुख्यमंत्री एवं जदयू के अध्यक्ष नीतीश कुमार को पूरा भरोसा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में केन्द्र में सत्तारुढ़ राजग को बहुमत मिलेगा और नरेन्द्र मोदी फिर प्रधानमंत्री बनेंगे।

 
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर लोक संवाद कार्यक्रम के बाद संवाददताओं से बातचीत कर रहे थे। तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली पराजय के बावजूद उनकी राय नहीं बदली है। उनका कहना है कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में हार के बावजूद भाजपा को कांग्रेस से अधिक वोट मिले हैं।
 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि भ्रष्टाचार को लेकर अध्यादेश फाड़ने वाले ने भ्रष्ट नेताओं से समझौता कर लिया है जबकि​ हमने भ्रष्टाचार को लेकर कभी समझौता नहीं किया। 
 
नीतीश कुमार ने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ केन्द्र की राजग सरकार द्वारा सीबीआई के दुरुपयोग किये जाने संबंधी यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के आरोप पर कहा कि यह सही नहीं है। उन्होंने कहा कि किसी के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले को कोर्ट को देखना है। उन्होंने क्राइम, करप्शन और कम्युनलिज्म से समझौता नहीं करने संबंधी रुख को दुहराते हुए गठबंधन के नेताओं द्वारा जाति विशेष की बैठक और भोज के आयोजन पर तंज कसा। वे विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी द्वारा सोमवार को पटना में आयोजित भोज पर प्रतिक्रिया दे रहे थे।
 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 13 वर्षों के अपने शासनकाल में बिहार में साम्प्रदायिक सद्भाव कायम रखने का दावा किया और कहा ​कि इस दौरान सिर्फ नवादा में एकबार कर्फ्यू लगाना पड़ा था। मॉब ​लिंचिंग की घटनाओं को लेकर मीडिया रिपोर्ट पर कहा कि यह वास्तविकता से दूर है। किसी गांव में दो गुटों के बीच मतभेद और बदले की कार्रवाई की घटना को मॉब​-लिचिंग से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। 
 
मुख्यमंत्री ने भाजपा से अलग राममंदिर और तीन तलाक में पार्टी का दृष्टिकोण दुहराते हुए कहा ​कि अयोध्या मसले का हल या तो कोर्ट करे या दोनों समुदायों के बीच आपसी सहमति से हो। इसमें अन्य किसी की दखलंदाजी नहीं हो। इसी तरह तीन तलाक मुस्लिम समुदाय से जुड़ा है। इसका समाधान भी मुस्लिम समुदाय पर छोड़ना चाहिए। कानून बनाकर दखलंदाजी न हो।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS