ब्रेकिंग न्यूज़
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: अब भ्रष्टाचार पर क्यों नहीं बोलते प्रधानमंत्री मोदी: राहुल गांधीहांगकांग ओपन टूर्नामेंट के पहले दौर में सिंधू की संघर्षपूर्ण जीत, प्रणीत बाहरसिंगापुर में प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च किया ‘एपिक्स’, 23 देशों के जुड़ेंगे दो अरब लोगराफेल डील पर सुनवाई खत्म, उच्चतम न्यायालय ने फैसला रखा सुरक्षितसुपर-30 के संस्थापक आनंद कुमार दुबई में शाही परिवार से मिलेट्रंप ने व्हाइट हाउस में जलाया दीया, कहा- मोदी का करता हूं सम्मान'मरजावां' फिल्म से जुड़ा एक और एक्ट्रेस का नाम, Twitter पर किया खुशी का इजहाररालोसपा नेता की गोली मारकर हत्या, परिजनों को ढांढस बंधाने पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा
बिहार
पारिवारिक बंटवारे में जमीन की रजिस्ट्री होगी फ्री : मुख्यमंत्री
By Deshwani | Publish Date: 9/7/2018 3:27:06 PM
पारिवारिक बंटवारे में जमीन की रजिस्ट्री होगी फ्री : मुख्यमंत्री

 पटना। लोक संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष आम जनता ने विभिन्न विषयों पर अपनी बात रखी. आज के कार्यक्रम में सुझाव देने के लिए सात लोगों का चयन किया गया था। इस दौरान लोगों के मुद्दे को सुनने के बाद बड़ा निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री में पारिवारिक बंटवारे में जमीन रजिस्ट्री को फ्री करने का निर्देश दिया। अब सिर्फ एक रुपये की औपचारिक अदायगी पर इस तरह के बंटवारे की जमीन का रजिस्ट्रेशन कर दिया जायेगा। इस तरह भाई- भाई के बीच बंटवारा आसान हो जायेगा और विवाद कम होंगे। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने एक और सुझाव पर गौर करने के बाद मुख्यमंत्री ने BPSC की परीक्षा के लिए जल्द नियमावली बनाने का निर्देश दिया।

 
आज के लोक संवाद कार्यक्रम में सबसे पहले समस्तीपुर के राम कुमार मुख्यमंत्री से मिले। उन्होंने जमीन के खतियान में सुधार करने का सुझाव दिया। उसके बाद बेगूसराय से आये हर्षवर्धन शर्मा ने नार्थ ईस्ट के तर्ज पर बिहार में खास तरह का पौधा लगाने का सुझाव दिया। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने राज्य में चल रहे योजनाओं के जानकारी के लिए भ्रमण कर अध्ययन कर विस्तृत सुझाव देने की बात कही। वहीं, सीवान से आये सुनील श्रीस्वास्तव ने BPSC परीक्षा में उतर पुस्तिका के मूल्यांकन का सुझाव दिया। जिस पर विचार करते हुए मुख्यमंत्री ने BPSC की परीक्षा के लिए जल्द नियमावली बनाने का निर्देश दिया। जबकि, पटना के श्रीकांत सिंह का सुझाव नगर विकास विभाग से जुड़ा था। जिसमें बिल्डरों से जुड़े विवाद के मामले को लोक शिकायत निवारण केंद्र में हल करने का सुझाव दिया। 
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS