ब्रेकिंग न्यूज़
नाबालिग को मिली तालिबानी सजा, चीनी डालकर शरीर पर छोड़ दी चीटियांभारत के अहंकारी और नकारात्‍मक जवाब से निराश हूं', इमरान खान का मोदी सरकार पर हमलाराम मंदिर मुद्दे पर दिल्ली में साधु-संतों की बड़ी बैठक, कारसेवा पर हो सकता है फैसलाईरान में सैन्य परेड पर हमला, 9 सैनिकों समेत कई लोगों की मौतअमेरिका में घुस गया रूसी टोही विमान, फिर सेना में ऐसे मच गया हड़कंपडेई तूफान की चपेट में आधा हिंदुस्तान, 8 राज्यों में भारी बारिश का अलर्टपीएम मोदी और अनिल अंबानी ने रक्षाबलों पर 1,30,000 करोड़ की 'सर्जिकल स्ट्राइक' की : राहुल गांधीशिक्षाविदों से संवाद में बोले राहुल गांधी: कठिन परिस्थितियों में काम करने वाले शिक्षक देश के बेहद अहम संसाधन हैं
बिहार
सरकार की अनदेखी के कारण बिहार बोर्ड की परीक्षा में हर साल हो रहा घोटाला: तेजस्वी यादव
By Deshwani | Publish Date: 10/6/2018 6:25:56 PM
सरकार की अनदेखी के कारण बिहार बोर्ड की परीक्षा में हर साल हो रहा घोटाला: तेजस्वी यादव

पटना। बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बिहार इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम में लगातार सामने आ रही गड़बड़ियों के लिए राज्य की नीतीश सरकार को जिम्मेवार ठहराया और कहा कि सरकार की अनदेखी के कारण राज्य बोर्ड की परीक्षा में हर साल घोटाला हो रहा है।

 
तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा कि इंटर की परीक्षा देने वाले छात्रों में ऐसे कई छात्र हैं जिन्होंने अधिकतम अंक से भी अधिक अंक अर्जित किए हैं। सरकार में कोई भी इसे लेकर परेशान नहीं है। नीतीश जी को हर साल होने वाली विसंगतियों से शर्मिंदा होना चाहिए। उन्हें राज्य के लोगों से माफी मांगनी चाहिए। हर साल बिहार बोर्ड के परिणामों में घोटाला होता है।
 
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कई छात्रों ने राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा(एनईईटी) में शानदार अंक अर्जित किए लेकिन वह बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की इंटरमीडिएट परीक्षा में भौतिकी और रसायन विज्ञान में एक से अधिक अंक भी प्राप्त करने में नाकाम रहे। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली राजग सरकार में कोई नहीं है जो पीड़ित छात्रों से सहानुभूति रखता है क्योंकि सभी दूसरों पर दोषारोपन करने में व्यस्त हैं।
 
तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि बिहार इंटरमीडिएट परिणाम 2018 में गड़बड़ियों के खिलाफ राज्य के हर शहर और गांव में विद्यार्थी सड़क पर हैं। इस परीक्षा में जो छात्र सभी विषयों में उत्तीर्ण हो गए हैं, उन्हें भी अनुत्तीर्ण घोषित कर उनके परिणाम को अपूर्ण श्रेणी में डाल दिया गया है।
 
उल्लेखनीय है कि बीएसईबी की इंटरमीडिएट परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी को लेकर पूरे राज्य में विद्यार्थियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। गड़बड़ी का आलम यह कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की संयुक्त प्रवेश परीक्षा (आईआईटी जेईई) मेन की परीक्षा पास कर चुके छात्र इंटरमीडिएट में फेल हो गए हैं। वहीं, किसी को पेपर में अधिकतम से ज्यादा अंक दिया गया है, तो कुछ छात्रों को एक या फिर जीरो नंबर मिले हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS