ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी पुलिस ने कार पर लदी नेपाली बीयर के साथ चार को पकड़ा, बदमाशों में एक पर स्वर्णकार को गोलीमार घायल कर आभूषण लूटने का आरोपसमस्तीपुर : अब नए समय से चलेगी वैशाली एक्सप्रेस व स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनबेतिया एमजेके सदर अस्पताल को जीएमसीएच भवन में किया जायेगा शिफ्टरामगढ़वा में कार सहित 11 लाख 53 हजार रुपये व एक पिस्टल के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तारपश्चिम चंपारण: पुलिस ने किया ट्रेक्टर लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश,5 गिरफ्तारसमस्तीपुर: पटोरी में गला रेतकर युवक की हत्या, युवक को दोनों हाथ बांध गला रेतने की आशंकागुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सवमोतिहारी में ट्रेंक्यूलर गन से बेहोश कर पकड़ाया हिंसक तेंदुआ, कइयों को घायल करनेवाले इस लेपर्ड के लिए मन में घृणा नहीं, सिर्फ ममता दिखी
बिहार
वैशाली में छेड़छाड़ के विरोध करने पर युवती को जिंदा जलाया, मुख्य आरोपी को पुलिस ने 17 दिन बाद किया गिरफ्तार
By Deshwani | Publish Date: 17/11/2020 2:30:30 PM
वैशाली में छेड़छाड़ के विरोध करने पर युवती को जिंदा जलाया, मुख्य आरोपी को पुलिस ने 17 दिन बाद किया गिरफ्तार

पटना। बिहार के वैशाली में छेड़छाड़ का विरोध करने पर कथित रूप से युवती को ज़िंदा जला देने के  मामले में आखिरकार पुलिस ने 17 दिनों बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने 17 दिनों के बाद नामजद मुख्य आरोपी चन्दन को गिरफ्तार किया है। वहीं दो अन्य आरोपियों की गिरफ्तरी के लिए पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है। इधर आरोपियों द्वारा जिंदा जलाई गई युवती का परिवार ने अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस के आश्वासन के बाद परिवार ने धार्मिक रीति के अनुसार उसे दफना दिया। आपको बता दें कि 30 अक्टूबर की सुबह तीन लड़कों ने युवती से छेड़खानी की और विरोध करने पर किरासन छिड़क कर उसे जिंदा जला दिया। पीएमसीएच में रेफर होने के बाद 15 नवम्बर को उसकी मौत हो गई थी। 





इधर जिन्दा जलायी गई 20 वर्षीय युवती के हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर महिला संगठनों से जुड़ी महिलाएं सामने आई हैं। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने पर अखिल भारतीय एसोसिएशन और बिहार महिला समाज ने निंदा करते हुए तत्काल कार्रवाई की मांग की है। ऐपवा की राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी ने कहा कि पुलिस द्वारा अपराधियों को संरक्षण देना बंद होना चाहिए। उन्होंने बताया कि भाकपा माले और अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (ऐपवा) की एक टीम ने वैशाली जिला के देसरी प्रखंड की मृतका के घर जाकर उसके परिवार से मुलाकात की और आसपास के लोगों से भी बातचीत की। इस टीम में भाकपा माले नेता विशेश्वर यादव और जिला सचिव योगेंद्र राय व अन्य साथी शामिल थे। टीम को मृतका की मां ने बताया कि 30 अक्टूबर की सुबह तीन लड़कों ने उसकी बेटी के साथ छेड़खानी की, जिसका उसने विरोध किया तो किरासन छिड़क कर उसे जिंदा जला दिया गया। पीएमसीएच में रेफर होने के बाद 15 नवम्बर को उसकी मौत हो गई। 


मां ने बताया कि 2017में उसके पति की मृत्यु हो गई तब से वह सिलाई का काम करके अपने बच्चों को पाल रही थी। वह सिलाई का काम करने रोज पटना सिटी आती है। उसके चार बच्चों (दो बेटियां और दो बेटे) में 20 वर्षीया बेटी बड़ी थी, जिसका दो महीने बाद निकाह होने वाला था। विधवा मां अपनी मेहनत के बल पर अपने बच्चों को पाल रही थी. उसे न तो कोई पेंशन मिलता है न किसी अन्य योजना का लाभ मिलता है। ऐपवा महासचिव मीना तिवारी से बात करते हुए मृतका की मां ने कहा कि मुझे बस इंसाफ चाहिए और कुछ नहीं।


इस पूरे मामले में अपराधियों के साथ पुलिस की मिलीभगत साफ दिखती है। मौत से पहले पुलिस को दिए बयान में पीड़िता ने अपराधियों का नाम बताया लेकिन आज तक किसी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। भाकपा माले नेता विशेश्वर यादव ने कहा कि यदि अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार नहीं किया गया तो 18 नवंबर को सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS