ब्रेकिंग न्यूज़
चकिया में बाइक लूटने में असफल अपराधियों ने युवक को मारी गोलीनेपाल से वतन लौट रहे करीब 400 भारतीय को बीरगंज प्रशासन ने रोका, डिटेंशन सेन्टर में खाने-पीने की व्यवस्था नहीं, कर रहे भारत बुलाने की अपीलउत्तर बिहार के ख्यातिप्राप्त सर्जन डॉ. आशुतोष शरण ने PM Cares Fund व CM Releaf Fund को दी कुल 2 लाख 50 हजार की आर्थिक सहायता, पूरी की दिली ख्वाहिशपूर्व केन्द्रीय कृषिमंत्री मोतिहारी सांसद लॉकडाउन में देशभर में फंसे सैकड़ो चंपारणवासियों को भोजन मुहैया करा रहे हैंलोगों के अनुरोध पर आपातकाल में प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और राहत कोष - PM CARES की घोषणा, नोट करें खाता नम्बरहाइड्रो-ऑक्‍सी-क्‍लोरोक्विन कोविड- 19 में कारगर, आवश्‍यक दवा घोषित, बिक्री और वितरण नियंत्रित करने संबंधी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की अधिसूचना जारीपूरे देश में 562 संक्रमित मामलों की पुष्टि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने की, 41 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थईरान से एयरइंडिया के विशेष विमान से लाये गये 277 लोग आज सुबह पहुंचे जोधपुर हवाई अड्डा
बेगूसराय
बरौनी-कानपुर पाइप लाइन में लीकेज, तेल लूटने के लिए ग्रामीणों में मची अफरा-तफरी
By Deshwani | Publish Date: 19/11/2019 1:50:04 PM
बरौनी-कानपुर पाइप लाइन में लीकेज, तेल लूटने के लिए ग्रामीणों में मची अफरा-तफरी

बेगूसराय। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के बरौनी-कानपुर पाइप लाइन में सोमवार देर रात लीकेज हो जाने से बड़े पैमाने पर पेट्रोलियम पदार्थों की क्षति हुई है। वहीं खेतों में बहते तेल को भरने के लिये ग्रामीणों में होड़ मची रही। 

 
घटना जिले के अथमलगोला थाना क्षेत्र स्थित हसन चक गांव के समीप की है। मंगलवार की सुबह में खेत की ओर गए ग्रामीणों ने बड़े पैमाने पर तेल बहते हुए देखा। जिसके बाद ग्रामीणों में तेल लूटने की होड़ मच गई। मौके पर हजारों ग्रामीण जुट गए और तेल भरने में लग गये। घटना की सूचना मिलते ही पहुंची पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद घेराबंदी कर लोगों को वहां से हटाया। 
 
इधर, घटना की सूचना मिलते ही बरौनी रिफाइनरी के तकनीकी विभाग की टीम पहुंची और लीकेज को बंद कर किया गया। बरौनी रिफाइनरी पाइपलाइन प्रभाग के वरिष्ठ मानव संसाधन प्रबंधक गोविंदजी निगम ने बताया कि सुबह में अथमलगोला थाना क्षेत्र में तेल रिसाव की जानकारी मिली। जिसके बाद त्वरित कार्रवाई करते हुए लीकेज को बंद कर दिया गया है। जांच पड़ताल की जा रही है उसके बाद ही पता चल सकेगा कि कितने पेट्रोलियम पदार्थ की बर्बादी हुई है। उन्होंने बताया कि यह भी आशंका है कि असामाजिक तत्वों ने पेट्रोलियम पदार्थ चोरी करने के उद्देश्य पाइप लाइन में छेद कर दिया है। फिलहाल उनकी पूरी टीम मामले की जांच-पड़ताल में जुटी हुई है। 
 
उल्लेखनीय है कि कि बरौनी-कानपुर और बरौनी-असम पाइपलाइन पर तेल चोरों की बराबर नजर गड़ी रहती है। सुनसान जगहों पर रात केे अंधेरे का फायदा उठाकर तेल चोर पाइप लाइन में लीकेज कर तेल की चोरी कर लेतेे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS