ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी में छतौनी में चलती में कार में पटना के व्यवसायी को अपाची सवार बदमाशों ने गोली मारी, घायल, निजी नर्सिंग होम में भर्तीमोतिहारी के मधुबन में भारत माइक्रो फाइनेंस की शाखा से लूट के 80 हजार रुपए व मैनेजर की मोबाइल मिला, एक गिरफ्तार, चार अन्य लूटेरों के नाम का पता चलामोतिहारी के पंचमंदिर शहनाई विवाह भवन में समारोह के दौरान मारपीट की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर हमला, नगर इंस्पेक्टर सहित कई घायल, पड़ोसी गिरफ्तार35वें बॉक्‍सम अंतर्राष्‍ट्रीय मुक्‍केबाजी टूर्नामेंट में भारत की मुक्‍केबाज पूजा रानी सेमीफाइनल मेंसरकार ने कोविड टीकाकरण अभियान में तेजी लाने को समय सीमा हटाया, 24 घंटे टीकाकरण की दी अनुमतिप्रधानमंत्री को सेरावीक 2021 में 5 मार्च को मिलेगा सेरावीक वैश्विक ऊर्जा एवं पर्यावरण नेतृत्व पुरस्कारजम्मू-कश्मीर: पुलवामा में पुलिस ने आतंकवादियों के ठिकाने का किया भंडाफोड़समस्तीपुर: एसबीआई शाखा से दिन दहाड़े छह लाख की लूट
बिहार
हत्या के मामले में दारोगा को उम्रकैद
By Deshwani | Publish Date: 6/4/2017 5:51:03 PM
हत्या के मामले में दारोगा को उम्रकैद

मुजफ्फरपुर। मुजफ्फरपुर के सकरा के मुराहरलोचनपुर गांव में हुई हत्या के एक मामले में दारोगा को जिला जज की अदालत द्वारा उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है। दारोगा हरेन्द्र कुमार सिंह पर कोर्ट ने पांच हजार का जुर्माना भी ठोका है, जिसे नहीं देने पर उसे दो माह की सजा भी भुगतनी पड़ेगी। 
19 अगस्त 2001 को सुरेन्द्र मेहता के बेटे सनत को एक कांड में गिरफ्तार करने गये दारोगा ने उसके पिता को ही गिरफ्तार कर लिया और 20 अगस्त की सुबह उनकी लाश घर के बगल में जमुआरी नदी में मिली। पुलिस ने इस कांड में कई खेल खेले। पहले पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक का उपनाम रामसागर मेहता दर्ज करा दिया और बाद में केस को फाइनल भी कर दिया। लेकिन मृत की नर्स पत्नी जानकी देवी द्वारा विरोध दर्ज कराने पर कोर्ट के आदेश पर दोबारा छानबीन की गयी जिसमें दारोगा हरेन्द्र सिंह दोषी करार दिए गए ।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS