ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
बिहार
हत्या के मामले में दारोगा को उम्रकैद
By Deshwani | Publish Date: 6/4/2017 5:51:03 PM
हत्या के मामले में दारोगा को उम्रकैद

मुजफ्फरपुर। मुजफ्फरपुर के सकरा के मुराहरलोचनपुर गांव में हुई हत्या के एक मामले में दारोगा को जिला जज की अदालत द्वारा उम्रकैद की सजा सुनाई गयी है। दारोगा हरेन्द्र कुमार सिंह पर कोर्ट ने पांच हजार का जुर्माना भी ठोका है, जिसे नहीं देने पर उसे दो माह की सजा भी भुगतनी पड़ेगी। 
19 अगस्त 2001 को सुरेन्द्र मेहता के बेटे सनत को एक कांड में गिरफ्तार करने गये दारोगा ने उसके पिता को ही गिरफ्तार कर लिया और 20 अगस्त की सुबह उनकी लाश घर के बगल में जमुआरी नदी में मिली। पुलिस ने इस कांड में कई खेल खेले। पहले पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक का उपनाम रामसागर मेहता दर्ज करा दिया और बाद में केस को फाइनल भी कर दिया। लेकिन मृत की नर्स पत्नी जानकी देवी द्वारा विरोध दर्ज कराने पर कोर्ट के आदेश पर दोबारा छानबीन की गयी जिसमें दारोगा हरेन्द्र सिंह दोषी करार दिए गए ।
 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS