ब्रेकिंग न्यूज़
भारतीय तट रक्षक जहाज समुद्र पहरेदार ब्रुनेई के मुआरा बंदरगाह पर पहुंचामोतिहारी निवासी तीन लाख के इनामी राहुल को दिल्ली स्पेशल ब्रांच की पुलिस ने मुठभेड़ करके दबोचापूर्व केन्द्रीय कृषि कल्याणमंत्री राधामोहन सिंह का बीजेपी से पूर्वी चम्पारण से टिकट कंफर्मपूर्व केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री सांसद राधामोहन सिंह विभिन्न योजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगेभारत की राष्ट्रपति, मॉरीशस में; राष्ट्रपति रूपुन और प्रधानमंत्री जुगनाथ से मुलाकात कीकोयला सेक्टर में 2030 तक नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता को 9 गीगावॉट से अधिक तक बढ़ाने का लक्ष्य तय कियाझारखंड को आज तीसरी वंदे भारत ट्रेन की मिली सौगातदेश की संस्कृति का प्रसार करने वाले सोशल मीडिया कंटेंट क्रिएटर को प्रधामंत्री ने संर्जक पुरस्कार से सम्मानित किया
राज्य
"उत्तर पूर्वी महोत्सव 2024" 13 से 17 जनवरी 2024 तक दिल्ली में आयोजित
By Deshwani | Publish Date: 4/1/2024 10:28:04 PM

दिल्ली उत्तर पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्रालय अपने सीपीएसई, पूर्वोत्‍तर हस्तशिल्प और हथकरघा विकास निगम लिमिटेड (एनईएचएचडीसी) के माध्यम से "उत्तर पूर्वी महोत्सव 2024" का आयोजन कर रहा है – पूर्वोत्‍तर भारत की समृद्धि को दर्शाने वाला, पांच दिवसीय सांस्कृतिक उत्सव 13 से 17 जनवरी, 2024 तक नई दिल्ली स्थित प्रगति मैदान के भारत मंडपम में आयोजित किया जाएगा।

 
 
 
 
उत्तर पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्रालय के सचिव श्री चंचल कुमार ने आज मीडिया को उत्तर पूर्वी महोत्सव के पहले संस्करण के बारे में जानकारी दी। श्री कुमार ने बताया कि इस महोत्सव को एक स्‍थान पर पूर्वोत्तर भारत की पारंपरिक कला, शिल्प और संस्कृतियों के मिश्रण वाली समृद्ध विविधता को प्रदर्शित करने के लिए सावधानीपूर्वक तैयार किया गया है। एक सांस्कृतिक पच्‍चीकारी (मोज़ेक) के रूप में कल्पना किया गया, उत्तर पूर्वी महोत्सव एक उत्सव से कहीं अधिक है।
 
 
 
 
मीडिया को संबोधित करते हुए श्री कुमार ने बताया कि यह महोत्सव आर्थिक अवसरों का मंच है. इस महोत्सव का उद्देश्य पारंपरिक हस्तशिल्प, हथकरघा, कृषि उत्पादों और पर्यटन की पेशकशों में आदान-प्रदान को बढ़ावा देना है, जो क्षेत्र की वृद्धि और विकास के लिए उत्प्रेरक बन सकता है।
 
 
 
 
डोनर मंत्रालय के सचिव ने बताया कि 250 बुनकर, किसान और उद्यमी महोत्सव में भाग लेंगे। उन्होंने कहा कि महोत्सव के दौरान पैनल चर्चा और क्रेता-विक्रेता बैठकें आयोजित की जाएंगी। उन्होंने कहा कि पारंपरिक नृत्य, मंत्रमुग्‍ध करने वाले अभिनय और क्षेत्र की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन महोत्सव का मुख्य आकर्षण होगा। इस मौके पर एक वीडियो फिल्म भी जारी की गई।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS