ब्रेकिंग न्यूज़
डाकघरों के माध्यम से दस दिन की अवधि में एक करोड़ से अधिक राष्ट्रीय ध्वज खरीदे गयेमोतिहारी कस्टम के दो हवलदारों को केन्द्रीय जांच ब्यूरो ने पकड़ा, 20 हजार रुपये घूस लेने का आरोपप्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल 2022 के भारतीय दल का अभिवादन कियाएनएमडीसी और फिक्की भारतीय खनिज एवं धातु उद्योग पर सम्मेलन का आयोजन करेंगेबिहार: आज बादल गरजने के साथ ठनका गिरने की आशंका, तीन जिलों में भारी बारिश का अलर्टमोतिहारी, हरसिद्धि के जागापाकड़ में महावीरी झंडा के दौरान आर्केस्ट्रा में फायरिंग, दो घायल, प्राथमिकी दर्जबिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा को हटाने के लिए सत्तारूढ महागठबंधन के सदस्यों ने नोटिस सौंपाप्रधानमंत्री ने आशूरा के दिन हज़रत इमाम हुसैन की शहादत को याद किया
राज्य
शिवसेना में गतिरोध जारी, विधानसभा के उपाध्यक्ष ने शिंदे गुट के 16 विधायकों को नोटिस जारी कर 48 घंटे में जवाब देने को कहा
By Deshwani | Publish Date: 25/6/2022 10:00:00 PM
शिवसेना में गतिरोध जारी, विधानसभा के उपाध्यक्ष ने शिंदे गुट के 16 विधायकों को नोटिस जारी कर 48 घंटे में जवाब देने को कहा

 मुंबई। महाराष्‍ट्र विधानसभा के उपाध्‍यक्ष नरहरि जिरवाल ने एकनाथ शिन्‍दे गुट के शिवसेना के 16 विधायकों को नोटिस जारी किए हैं। उपाध्यक्ष श्री जिरवाल ने 48 घंटे में नोटिस का जवाब देने को कहा है। जवाब में विफल होने पर बागी विधायकों पर कार्रवाई की बात भी कही गयी है।



 इस बीच, असंतुष्‍ट विधायक दीपक केसरकर ने कहा है कि वे अजय चौधरी को सदन में समूह का नेता नियुक्‍त करने और नोटिस जारी करने के कदम को न्‍यायालय में चुनौती देंगे।

खबर यह भी आ रही है कि शिन्‍दे गुट के पास दो तिहाई बहुमत है और वे अभी भी शिवसेना में है। गुट के 38 विधायकों ने महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री, गृहमंत्री और पुलिस महानिदेशक को राज्‍य में उनके परिवारों की सुरक्षा हटाने का आरोप लगाते हुए पत्र लिखा है। इस बीच, गुवाहाटी में विद्रोही विधायकों के होटल की सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढा दी गई है।


शिवसेना सांसद अरविन्‍द सावंत, अनिल देसाई और सुभाष देसाई ने इन विधायकों को अयोग्‍य घोषित करने की मांग की थी। इस मांग पर स्‍वत् संज्ञान लेते हुए श्री जिरवाल ने इन विधायकों से अगले 48 घंटे में यानी सोमवार शाम साढे पांच बजे से पहले नोटिस का जवाब देने को कहा है। उन्‍होंने कहा कि नोटिस का जवाब देने में विफल रहने पर बागी विधायकों के विरूद्ध आवश्‍यक कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले दिन में विद्रोही विधायकों ने श्री एकनाथ शिन्‍दे के नेतृत्‍व में गुवाहाटी में अगले दौर की बैठक की। सूत्रों ने बताया कि वे अपने गुट का किसी के साथ विलय नहीं करेंगे और बालासाहब ठाकरे की हिन्‍दुत्‍व की विचारधारा को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS