ब्रेकिंग न्यूज़
सिताब दियारा में लगा परिवार नियोजन कैंप, महिलाओं ने अस्थाई साधनों को अपनायाकाबुल में सैनिक ट्रेनिंग सेंटर के बाहर आत्मघाती हमला, 4 जवान घायलमहाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर पवार बोले, बीजेपी-शिवसेना से पूछो सरकार कैसे बनेगीबेतिया में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या2019 का ये आखिरी सत्र है, हम चाहते हैं सभी मुद्दों पर उत्तम संवाद हो: प्रधानमंत्री मोदीशीतकालीन सत्र: साइकिल से संसद भवन पहुंचे सांसद मनोज तिवारी, केजरीवाल सरकार के लिए कही ये बातसंदिग्ध अवस्था में युवक की मौत, पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा वजहINX मीडिया केस: पी. चिदंबरम की जमानत याचिका पर 20 नवम्बर को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट
राज्य
कमलेश तिवारी हत्याकांड: मुइनुद्दीन और अशफाक पर ढाई-ढाई लाख का इनाम घोषित
By Deshwani | Publish Date: 21/10/2019 12:27:55 PM
कमलेश तिवारी हत्याकांड: मुइनुद्दीन और अशफाक पर ढाई-ढाई लाख का इनाम घोषित

-गुजरात से गिरफ्तार तीनों आरो​पित को राजधानी लेकर पहुंची पुलिस

लखनऊ।
राजधानी लखनऊ में दिनदहाड़े हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस ने इनाम की घोषणा की है। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने दो आरोपियों अशफाक और मोइनुद्दीन पठान की गिरफ्तारी पर ढाई-ढाई लाख रुपये का इनाम घोषित किया है। इसके साथ ही हत्याकांड में गुजरात से गिरफ्तार तीन आरोपितों मोसिन सलीम शेख, फैजान और रशीद अहमद को उत्तर प्रदेश पुलिस लखनऊ लेकर आ गई है। आज सुबह की फ्लाइट से आरोपितों को लखनऊ लाया गया।

कमलेश तिवारी की हत्या मामले में चार जिलों और बाहर के राज्यों में सक्रिय यूपी पुलिस को शाहजहांपुर में सीसीटीवी फुटेज में मुइनुद्दीन और अशफाक को देखा गया है। दोनों एक चार पहिया वाहन से आते हुए दिखे हैं। इस सीसीटीवी फुटेज के मिलने पर यूपी पुलिस ने दोनों आरोपितों पर इनाम की राशि घोषित की है, जिससे दोनों को पहचान कर गिरफ्तार कराने में आम लोगों से मदद मिल सके।

पलिया में कमलेश के हत्यारों ने पांच हजार रुपये पर एक इनोवा बुक की और उससे वह रात करीब 12 बजे शाहजहांपुर पहुंचे। रेलवे स्टेशन के पूछताछ काउंटर पर जाकर उन्होंने ट्रेन के बारे में पता किया। इसके बाद इनोवा गाड़ी छोड़ दी। दोनों हत्यारे पैदल ही स्टेशन रोड से अशफाकनगर पुलिस चौकी की ओर जाते हुए सीसीटीवी में कैद हुए हैं। उनके पीछे लगी एसटीएफ भी कुछ ही देर के बाद शाहजहांपुर पहुंची। इनोवा के चालक को हिरासत में ले लिया और उससे कड़ी पूछताछ की। चालक ने बताया कि उसके मालिक पलिया में रहते हैं और मालिक के रिश्तेदार गुजरात में रहते हैं।

गुजरात से ही फोन आने पर पांच हजार रुपये किराए पर मालिक ने कार ले जाने के लिए कहा था, बाकी उसे कोई जानकारी नहीं है। इसके बाद एसटीएफ और स्थानीय पुलिस ने मिलकर आसपास के होटल, मदरसे व अन्य संभावित स्थानों पर दबिश देनी शुरू कर दी है, हालांकि अभी तक हत्यारों का पता नहीं लग सका है।

कमलेश हत्याकांड के बाद एसटीएफ को इनकी सीतापुर, गाजियाबाद में भी लोकेशन मिली थी। अशफाक के कानपुर से सिम खरीदने की भी जानकारी यूपी पुलिस व एसटीएफ को मिली थी। एटीएस भी इस मामले में सक्रिय है और सीमाओं पर दोनों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहें है, जिससे ये दोनों किसी जगह भागने में सफल ना हो पायें।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS