ब्रेकिंग न्यूज़
नफरत को खत्म करने, संविधान को बचाने, एन आर सी, सी ए ए जैसे काले कानून के खिलाफ भारत के गंगा-जमुनी तहजीब का नमूना है शाहीन बाग: पप्पू यादवधार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलिआगर- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोतिहारी की बस की भीषण दुर्घटना में मृतकों के नाम फिरोजाबाद प्रशासन ने मोतिहारी एसपी को पत्र लिखकर दिएरक्सौल में लुधियाना की नाबालिक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर विवाह करने के आरोप में एक युवक गिरफ्तारऔरंगाबाद में 9वी की छात्रा की हत्या, छात्रा का शव उसके ही क्लास रूम में मिलाभारत को हराकर पहली बार बांग्लादेश ने अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप जीतापटना के गांधी मैदान से सटे इलाके में ब्लास्ट होने से करीब आधा दर्जन लोग घायल
राज्य
कुशीनगर में हुए जहरीले शराब कांड को अनुसूचित आयोग ने लिया संज्ञान
By Deshwani | Publish Date: 20/8/2019 3:37:45 PM
कुशीनगर में हुए जहरीले शराब कांड को अनुसूचित आयोग ने लिया संज्ञान

कुशीनगर। जिले में फरवरी में तरयासुजान थाना क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से हुई 11 लोगों की मौत के मामले को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने संज्ञान में लिया है। अध्यक्ष ने जहरीली शराब पीने से मरने वाले अनुसूचित जाति के लोगों की संख्या और उन्हें उपलब्ध कराई गई आर्थिक मदद के बारे में प्रशासन से सूचना मांगी है। 
 
फरवरी में जहरीली शराब पीने से तरयासुजान थाना क्षेत्र के बेंदूपार खलवा टोला, नौका टोला, खैरटिया आदि टोले के 11 लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि उनमें नौ लोगों का ही पोस्टमार्टम हो पाया था, दो व्यक्तियों के शवों का परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया था। इस मामले में लापरवाही बरतने पर आबकारी इंस्पेक्टर, एसओ तरयासुजान समेत आठ को निलंबित कर दिया गया था। एसपी राजीव नारायन मिश्र की पहल पर मृतकों के घरवालों की तहरीर पर दो लोगों के खिलाफ गैरइरादतन हत्या, जहरीली शराब बनाने और बेचने के आरोप में केस दर्ज किया गया था। एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। 
 
जिला समाज कल्याण अधिकारी टीके सिंह ने बताया कि इस जहरीली शराबकांड मामले को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष रमाशंकर कठोरिया ने संज्ञान लिया है। उन्होंने जानकारी मांगी है कि इस कांड में अनुसूचित जाति के कितने लोगों की हुई थी मौत और उन्हें कितनी आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई गई थी। यह सूचनाएं मुहैया कराने के लिए एक सप्ताह का समय मिला है। सूचना एकत्र कराई जा रही है। घटना में जहरीली शराब पीने से अनुसूचित जाति के दो व्यक्तियों की मौत हुई थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS