ब्रेकिंग न्यूज़
अनिल कुमार जैन कोयला मंत्रालय के नए सचिव नियुक्तमुख्यमंत्री नीतीश का दावा-एनडीए में कोई दरार नहीं, विधानसभा चुनावों में जीतेंगे 200 से ज्यादा सीटबिहार में गंगा समेत कई नदियां उफान पर, मुख्यमंत्री नीतीश ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया हवाई सर्वेक्षणमां दुर्गा के गाने पर जमकर थिरकीं नुसरत जहां और मिमी चक्रवर्ती, वायरल हुआ वीडियोचाइना ओपन से बाहर हुए प्रणीत, भारत का अभियान समाप्तबेल्जियम दौरे के लिये भारतीय हॉकी टीम घोषित, मनप्रीत सिंह को मिली कमानसरकार ने कॉरपोरेट टैक्स 30 फीसदी से घटाकर 22 फीसदी किया, नई दरें 1 अप्रैल से लागूतुलसी गबार्ड ने ‘हाउडी मोदी’ में शामिल नहीं होने पर मांगी माफी, वीडियो जारी कर किया पीएम मोदी का स्वागत
राज्य
प्रधानमंत्री मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने और 'कमल' खिलाने को मुख्यमंत्री योगी ने की 55 दिन में 163 जनसभाएं
By Deshwani | Publish Date: 22/5/2019 12:43:18 PM
प्रधानमंत्री मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने और 'कमल' खिलाने को मुख्यमंत्री योगी ने की 55 दिन में 163 जनसभाएं

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के दौरान उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने और कमल खिलाने को तुफानी दौरा किया। उन्होंने चुनावी दौरा 24 मार्च से सहारनपुर के शाकम्भरी देवी से शुरू कर 17 मई को गोरखपुर में समापन किया। इस बीच 55 दिन में मुख्यमंत्री ने यूपी सहित नौ राज्यों में 163 जनसभाएं की। वे अपनी जनसभा में जहां वंशवाद व जातिवाद पर लगातार हमला करते रहे, वहीं आतंकवाद, नक्सलवाद, बांग्लोदशी घुसपैठ व सुरक्षा पर विपक्षियों को जमकर घेरा।

 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने बताया कि सीएम ने दूसरे नौ राज्यों में पश्चिम बंगाल में छह जनसभाओं को संबोधित किया। इसके अलावा मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ सहित अन्य आठ दूसरे राज्यों में भी जनसभा करने के लिए गये। दूसरे राज्यों में सीएम की कुल 27 जनसभाएं रखी गयी थीं और हर जगह सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंचे। पश्चिम बंगाल में तो सीएम की जनसभाओं को रोकने का भी प्रयास किया गया। इसके बावजूद सीएम ने वहां की जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए सभा की।
 
55 दिन के अंदर मुख्यमंत्री योगी की प्रतिदिन औसतन तीन जनसभाएं होती रहीं। बीच में तीन दिन तक चुनाव आयोग ने सीएम की जनसभा को प्रतिबंधित भी कर दिया था। यदि उस तीन दिन को निकाल दिया जाय तो औसतन प्रतिदिन सीएम ने तीन जनसभाओं को संबोधित किया। सीएम की जनसभाओं में राष्ट्रहित, कट्टरता और निश्छलता ने लोगों को ज्यादा प्रभावित किया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS