ब्रेकिंग न्यूज़
अयोध्या आतंकी हमले पर 14 साल बाद फैसला, चार दोषियों को उम्रकैद, एक बरीचमकी बुखार पीड़ितों की चिकित्सा व्यवस्था से सरकार संतुष्ट, देर से अस्पताल पहुंचने के कारण हुई ज्यादा बच्चों की मौतसड़क हादसे में बाइक सवार तीन लोगों की दर्दनाक मौत, बस में पीछे से मारी टक्करएक दिवसीय स्व अर्जुन बैठा मेमोरियल चेस प्रतियोगिता का आयोजन'गुलाबो सिताबो' की शूटिंग के लिए नवाबों के शहर लखनऊ पहुंचे अमिताभव्हील चेयर पर लोकसभा में पहुंचे मुलायम सिंह यादव, निर्धारित क्रम से पहले ली शपथसुप्रीम कोर्ट में सरकारी डॉक्टरों की सुरक्षा संबंधी याचिका पर सुनवाई टालीभारत ने फिजी को 11-0 से रौंदकर अंतिम चार में पहुंची भारतीय महिला हॉकी टीम
राज्य
कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को बर्खास्त करने के लिए सीएम योगी ने राज्यपाल से की सिफारिश
By Deshwani | Publish Date: 20/5/2019 12:49:02 PM
कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को बर्खास्त करने के लिए सीएम योगी ने राज्यपाल से की सिफारिश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बीजेपी के सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को मुख्यमंत्री योगी ने आज राज्यपाल रामनाईक से बर्खास्त करने की सिफारिश की है। राजभर यूपी सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण और दिव्यांग जन कल्याण मंत्री हैं। राजभर के बेटे अरविंद राजभर को उत्तर प्रदेश लघु उद्योग निगम का अध्यक्ष नामित किया गया था। 
 
इसके अलावा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी से जुड़े राणा अजित प्रताप सिंह को उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम का अध्यक्ष, ओमप्रकाश राजभर के सहयोगी सुदामा राजभर को पशुधन विकास परिषद का सदस्य, सुनील अर्कवंशी और राधिका पटेल को राज्य एकीकरण परिषद के सदस्य के लिए नामित किया गया था। महेश प्रजापति को उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग एवं विकास निगम में सदस्य बनाया था। इन सभी को भी योगी सरकार ने तत्काल प्रभाव से हटा दिया है।
 
उल्लेखनीय है कि सभासपा के अध्यक्ष राजभर ने योगी सरकार के खिलाफ सीधा मोर्चा खोल दिया है। भाजपा के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारने वाले राजभर ने गाली और बीजेपी कार्यकर्ताओं को दस-दस जूता मारने की अपील की थी। भाजपा को लोकसभा चुनाव में जितनी मुश्किल विपक्ष से नहीं हुई, उससे ज्यादा परेशानी सुभासपा अध्यक्ष और यूपी सरकार के मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने दी। लोकसभा चुनाव के दौरान राजभर ने अपने हर उम्मीदवार के मंच पर भाजपा की ऐसी की तैसी की। घोसी संसदीय क्षेत्र की एक जनसभा में 17 मई को तो वह भाजपा को गाली देते हुए सुने गए। उनके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज हुआ है।
 
सोमवार को भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि यूपी सरकार में रहते हुए राजभर योगी सरकार के खिलाफ जिस प्रकार की बयानबाजी करते रहे, वह बेहद अफसोसजनक था। उन्होंने अनुशासन और सरकार की हर मार्यादा की सीमा पार कर दी थी। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS