ब्रेकिंग न्यूज़
राजस्थान: साथ नजर आए सचिन पायलट और अशोक गहलोत, विधायक दल की बैठक कलराजस्थान विधानसभा चुनाव में राजकुमार शर्मा ने लगाई हैट्रिकआखिरकार सैफ अली खान ने देख ही ली सारा की 'केदारनाथ', करीना कपूर देंगी पार्टीछत्तीसगढ़: बीजेपी के हारते ही मुख्यमंत्री रमन सिंह के प्रमुख सचिव ने ली लंबी छुट्टीउपेंद्र कुशवाहा ने ट्वीट कर राहुल गांधी को दी बधाई, प्रधानमंत्री मोदी पर बोला हमलाभारत और रूस के बीच युद्धाभ्यास अविन्द्रा हुआ शुरूतीन राज्यों के रुझान में कांग्रेस को बढ़त, खुशी से झूमे कांग्रेस-आरजेडी कार्यकर्तावाजपेयी, अनंत, चटर्जी को श्रद्धांजलि देने के बाद दोनों सदनों की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित
राज्य
मध्यप्रदेश में चुनाव से पहले सुरक्षा कारणों से अमित शाह का भोपाल में रोड शो रद्द
By Deshwani | Publish Date: 19/11/2018 10:31:41 AM
मध्यप्रदेश में चुनाव से पहले सुरक्षा कारणों से अमित शाह का भोपाल में रोड शो रद्द

भोपाल। राजधानी भोपाल में मंगलवार को भाजपाध्यक्ष अमित शाह का होने वाला रोड शो रविवार रात रद्द कर दिया गया है। शाह का यह रोड शो सुरक्षा कारणों की वजह से रद्द किया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पार्टी ने खूफिया एंजेसियों से मिले इनपुट के बाद भाजपाध्यक्ष का रोड शो रद्द करने का फैसला लिया है। बता दें शाह भोपाल में माता मंदिर से पुराने भोपाल तक रोड शो करने वाले थे, लेकिन पुराने भोपाल का रास्ता काफी संकरा है, जिसके चलते खूफिया एजेंसियों ने सुरक्षा व्यवस्था बिगड़ने के इनपुट दिये थे। जिसके बाद रविवार को भाजपा पदाधिकारियों ने शाह के दौरे को निरस्त करने का फैसला लिया।

 
बता दें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह यहां भोपाल उत्तर विधानसभा क्षेत्र की भाजपा  प्रत्याशी फातिमा रसूल सिद्धिकी के समर्थन में रोड शो करने वाले थे। शाह का यह रोड शो कर्फ्यू वाली माता मंदिर भवानी चौक से शुरू होकर सोमवारा, लखेरापुरा, सावरकर चौक, पीपल चौक, सराफा चौक, सुभाष चौक, लोहा बाजार, जुमेराती, छोटे भैया कार्नर, हनुमान गंज, मंगलवारा, छावनी चौक होते हुए भारत टाकीज चौराहे पर खत्म होने वाला था। रोड शो शाम 5 बजे से शुरू होना था, लेकिन भाजपा के नेतृत्व में शो रद्द कर दिया गया है।
 
इससे पहले भाजपाध्यक्ष ने रविवार को प्रदेश के विंध्य क्षेत्र में रोड जनसभा को संबोधित किया था। इस दौरान शाह ने रीवा, सीधी, उमरिया और सतना में सभाएं की थीं। जहां शाह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था. जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा था कि 'मध्य प्रदेश में कांग्रेस एक राजा, एक महाराजा और एक उद्योगपति के नेतृत्व में चुनाव लड़ रही है। कांग्रेस ने 1978 में इंदिरा कांग्रेस के गठन के बाद से इस पार्टी को वंशवादी सेवा के लिये पारिवारिक उद्यम बना दिया जिसका मकसद लोगों की सेवा के लिये राजनीतिक पार्टी बनाने की बजाए वंशवादी सेवा प्रदान करना था।'
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS