ब्रेकिंग न्यूज़
जिला प्रशासन ने अंतरजातीय विवाह करने वाले 10 दंपत्तियों को बतौर प्रोत्साहन 7.75 लाख की राशि प्रदान कियादैवीय आपदा, बेघर और कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निःशुल्क आवास उपलब्धदिनेशलाल यादव निरहुआ ने की बिहार में 500 थियेटर के साथ एजुकेशन को जोड़ने की पहलविभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर स्वच्छ रक्सौल संस्था द्वारा धरना आज तीसरा दिन भी जारी रहाशराब कारोबारी और पुलिस की कथित चूहा बिल्ली के खेल में हुई दुर्घटना में एक तेज रफ्तार होण्डा कार ने तीन लोगों को रौंदा, एक की मौतदूरदर्शन की मशहूर एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ितकुशीनगर में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनीजिले में बेहतर स्वास्थ्य एवं सुरक्षित भविष्य के लिए राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम योजना की शुरूआत
राज्य
बीएचयू में डॉक्टरों व छात्रों के बीच हुई झड़प के बाद भड़की हिंसा, पुलिस फोर्स तैनात
By Deshwani | Publish Date: 25/9/2018 1:46:15 PM
बीएचयू में डॉक्टरों व छात्रों के बीच हुई झड़प के बाद भड़की हिंसा, पुलिस फोर्स तैनात

वाराणसी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय में जूनियर डॉक्टरों और तीमारदारों के बीच हुए हाथापाई का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बीएचयू परिसर में छात्र जगह-जगह आगजनी और तोड़फोड़ कर रहे हैं, जिसे रोकने के लिए भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले को नियंत्रित करने में लगी है, लेकिन छात्रों का हंगामा अभी भी जारी है और हालात बिगड़ते जा रहे हैं। विश्वविद्यालय पहुंचे एसएसपी और डीएम ने खानापूर्ति करते हुए कुछ छात्रों पर लाठीचार्ज भी किया।  

 
 
आरोप है कि लॉ फैकल्टी का एक पूर्व छात्र अपने रिश्तेदार का इलाज कराने सरसुंदर लाल चिकित्सालय पहुंचा था। इस दौरान उसकी जूनियर डॉक्टरों से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि दोनों में हाथापाई शुरू हो गई। बिड़ला सी हॉस्टल के छात्रों और धन्वन्तरि हॉस्टल के छात्रों में पत्थरबाजी शुरू हो गई। धन्वन्तरि छात्रावास में रहने वाले दो जूनियर डॉक्टरों की बिड़ला के कुछ छात्रों द्वारा पिटाई कर दी गई। इसके बाद बवाल और बढ़ गया और छात्रों ने परिसर में खड़े एक वाहन में भी आग लगा दी।
 
 
 
मामले को नियंत्रण में करने के बीएचयू प्रशासन के जब सारे प्रयास विफल हो गए तो पुलिस को कमान संभालनी पड़ी। बवाल को बढ़ते देख प्रशासन ने कमांडो फोर्स को भी बुलाया है। एक ओर आर्ट्स फैकल्टी के छात्रों का आरोप है कि धन्वन्तरि हॉस्टल में रहने वाले छात्रों ने उनके एक छात्र को पीटा है, तो वहीं दूसरी ओर धन्वन्तरि के छात्रों ने भी आर्ट्स फैकल्टी के छात्रों पर आरोप लगाया है कि उन्होंने उनके सहयोगियों की पिटाई की है। वहीं इस बवाल के बाद डॉक्टरों ने काम पर जाने से मना किया है। हालांकि, उन्होंने अभी हड़ताल घोषित नहीं की है।
 
 
 
बीएचयू के छात्रों की संलिप्तता होने की बात पर एसीएम प्रथम प्रेम पांडे ने बताया कि इलाज की जल्दबाजी को लेकर जूनियर डॉक्टर और एक मरीज के परिजनों के बीच विवाद हो गया है। पूरे मामले में जांच की जा रही है। पुलिस पता लगा रही है कि मारपीट करने वाले लड़के कौन थे और कहां के थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS