राज्य
अखिलेश यादव प्रदेश में अपराधियों के चल रहे एनकाउंटर पर भी सवाल उठाये
By Deshwani | Publish Date: 17/2/2018 4:33:22 PM
अखिलेश यादव प्रदेश में अपराधियों के चल रहे एनकाउंटर पर भी सवाल उठाये

गाजीपुर। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज उत्तर प्रदेश सरकार पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। गाजीपुर में आज अखिलेश यादव पूर्व मंत्री ओम प्रकाश सिंह के घर पर त्रयोदशी संस्कार में पधारे थे। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार प्रदेश में खराब पड़ी कानून-व्यवस्था को सुधार नहीं पा रही है। सूबे में इन दिनों ताबड़तोड़ एनकाउंटर हो रहे हैं। इनमें भी काफी भेदभाव बरता जा रहा है। प्रदेश में अपराधियों के चल रहे एनकाउंटर पर भी उन्होंने सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि इसमें भी भेदभाव हो रहा है। हर स्तर पर कमजोर का एनकाउंटर किया जा रहा है, बड़े बदमाश आराम से अपने काम को अंजाम दे रहे हैं। लखनऊ में भाजपा के विधायक रहे शख्स के बेटे की हत्या हो गई, अभी तक कोई नहीं पकड़ा गया। प्रदेश की तमाम घटनाओं को लेकर पुलिस पर अंगुलियां उठ रही हैं।

 
अखिलेश यादव आज केंद्र तथा प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे। तंज कसते हुए कहाकि जाति के आधार किसी को अमीर व गरीब नहीं आंका जा सकता। बतौर नजीर पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी का नाम लिया। उन्होंने कहा कि अब चाय नहीं सच्चाई पर चर्चा करने का समय आ गया है। अंधऊ हवाई पट्टी पर उन्होंने कहा कि भाजपा ने सबको धोखा दिया। नोटबंदी से कोई भ्रष्टाचार नहीं रुका। उन्होंने कहा कि मेरी जानकारी में यहां की समस्या से 15 हजार बड़े उद्योगपति-व्यापारी देश छोड़कर चले गए। उन्होंने कहा कि देश की कोई तस्वीर नहीं बदली है। बेरोजगार, नौजवान, किसान सबके संग धोखा हुआ है। केंद्र सरकार ने पांच बजट पेश किए, क्या मिला लोगों को। कितना कालाधन लाया गया। अब प्रदेश में सबसे बड़े बजट के नाम पर गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें इंतजार है कि कोई बड़ी सड़क लेकर आएं।
 
उन्होंने कहा कि सरकार बच्चों की नकल रोक रही हैं और खुद नकल करते हैं। हमारी समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस की नकल की गई। नकल रोकने का नहीं बल्कि कोई रोजगार मांगने लायक न रहे इसकी कोशिश हो रही है। मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि अयोध्या, वाराणसी, गोरखपुर से इससे जोड़ेंगे। पहले गाजीपुर-बलिया तक सड़क तो बनाएं। हमने तीन लाख से अधिक लोहिया आवास दिया। समाजवादी पेंशन पांच सौ रुपये प्रतिमाह किया। हम रहे होते तो इसे एक हजार कर दिए होते। गरीबों को गैस सिलेंडर दिए, अब वह चूल्हे भी बुझ रहे हैं। गाजीपुर को क्या मिला है। स्टेशन बनना, रेल पटरी बिछाया जाना यह सब तो रूटीन का काम है। सवाल उठाया कि इससे आखिरकार गरीब को क्या मिला।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS