ब्रेकिंग न्यूज़
कैबिनेट ने घरेलू उत्पादित कच्चे तेल की बिक्री के विनियमन को मंजूरी दीविषम परिस्थितियों के बावयूद मोतिहारी का प्रेपरेटरी स्कूल-शिक्षायतन अपने मानक पर उतर रहा खराजी-7 शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी रविवार को जर्मनी के शहर म्‍यूनिख पहुंचेकतिपय चिकित्सक व जांचघर चला रहे अवैध ब्लड बैंक के वीडियों क्लिप के बाद जिलाधिकारी दिए जांच के आदेश, होगी कार्रवाईशिवसेना में गतिरोध जारी, विधानसभा के उपाध्यक्ष ने शिंदे गुट के 16 विधायकों को नोटिस जारी कर 48 घंटे में जवाब देने को कहासबसे कमजोर तबके के जीवन में बदलाव लाना ही वास्तविक विकास-नरेंद्र सिंह तोमरबिहार: भागलपुर में स्वर्ण कारोबारी से बदमाशों ने 30 किलो चांदी लूटी, जांच में जुटी पुलिसपूर्वी चंपारण के एनएच 28 पर हार्डवेयर कारोबारी की गोली मारकर हत्या
राज्य
आयकर विभाग ने जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में तलाशी अभियान चलाया
By Deshwani | Publish Date: 17/6/2022 10:51:35 PM
आयकर विभाग ने जम्मू-कश्मीर और दिल्ली में तलाशी अभियान चलाया

दिल्ली। आयकर विभाग ने जमावार शॉल, पश्मीना और कश्मीरी शॉल के एक प्रमुख निर्माता व विक्रेता के विरुद्ध 15 जून 2022 को तलाशी और जब्ती अभियान चलाया। इस तलाशी अभियान में श्रीनगर, अनंतनाग और दिल्ली में फैले 15 से अधिक परिसरों को शामिल किया गया।





इस तलाशी अभियान के दौरान, हार्ड कॉपी दस्तावेजों और डिजिटल साक्ष्य सहित बड़ी संख्या में आपत्तिजनक सबूत पाए गए तथा उन्हें जब्त किया गया। जब्त किए गए दस्तावेजों के प्रारंभिक विश्लेषण से संकेत मिलता है कि बिक्री का बड़ा हिस्सा नकद में किया गया है, जो नियमित बही-खाते में दर्ज नहीं किया गया है। तलाशी कार्रवाई से यह भी पता चला है कि समूह ने स्टॉक के कम मूल्यांकन और कम दर्ज करने के माध्यम से बड़े पैमाने पर कर चोरी की गई। अकेले दिल्ली में 4 करोड़ रुपये से अधिक के बेहिसाब स्टॉक का पता चला है।

यह समूह भारत से सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात में स्थित अपनी विभिन्न कंपनियों को निर्यात भी दिखा रहा है। हालांकि, संयुक्त अरब अमीरात में अनौपचारिक लाभ के बंटवारे की व्यवस्था के साथ तीसरे पक्ष के नाम पर व्यापार किए जाने का पता चला है।





यह पाया गया है कि समूह ने न केवल भारत में बल्कि विदेशों में भी बड़ी संख्या में अचल संपत्तियों में काफी बेहिसाब निवेश किया है। जांच में एक लग्जरी होटल में समूह द्वारा निवेश का भी खुलासा हुआ है, जिसके बारे में लेखा-जोखा में पूरी तरह से खुलासा नहीं किया गया है।

तलाशी अभियान में 46 लाख रुपये से अधिक की बेहिसाब नकदी बरामद हुई है। आगे की जांच जारी है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS