ब्रेकिंग न्यूज़
'दंगल' फेम सुहानी भटनागर की प्रेयर मीट में पहुंचीं बबीता फोगाटबिहार:10 जोड़ी ट्रेनें 25 फरवरी तक रद्द,नरकटियागंज-मुजफ्फरपुर रेलखंड की ट्रेनें रहेंगी प्रभावितप्रधानमंत्री ने मिजोरम के निवासियों को राज्‍य के स्‍थापना दिवस पर शुभकामनाएं दीउपराष्ट्रपति ने कहा- भारत सुषुप्‍त अवस्‍था से जागृत अवस्‍था में प्रवेश कर चुका हैमोतीहारी: गांधी कुष्ठ कॉलोनी में मरीजों के बीच खाद्य सामग्री व सफाई सामग्री के साथ-साथ कंबल का भी वितरण किया गयामहागठबंधन छोड़ नीतीश शामिल हुए एनडीए में, बिहार में बनी एनडीए की सरकारमोतीहारी: राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर महात्मा गांधी ऑडिटोरियम में नव मतदाता सम्मेलन का आयोजनउपराष्ट्रपति ने श्री हरिशंकर भाभड़ा के निधन पर शोक व्यक्त किया
नेपाल
सप्तमी के दिन नेपाल में फूलापाती की धुम, सेना के जवानों ने दूर्गा महारानी को दिया गॉर्ड ऑफ ऑनर
By Deshwani | Publish Date: 22/10/2023 12:42:43 AM
सप्तमी के दिन नेपाल में फूलापाती की धुम, सेना के जवानों ने दूर्गा महारानी को दिया गॉर्ड ऑफ ऑनर

नेपाल/रक्सौल अनिल कुमार। रक्सौल से सटे नेपाल के सीमावर्ती शहर वीरगंज में शनिवार को शारदीय नवरात्र के सातवे दिन फूलापाती मनायी गयी। वर्षो से चली आ रही इस परंपरा के तहत नेपाल सरकार के राजस्व विभाग (मालपोत कार्यालय) से मां की डोली निकलती है और नजदीक के देवी स्थान तक जाती है। इस दौरान नेपाली सेना के बैंड का भी कार्यक्रम होता है, साथ ही मां को सशस्त्र बलों के द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया जाता है। शनिवार को वीरगंज में यह रस्म पर्सा जिला के जिलाधिकारी, वीरगंज महानगरपालिका के मेयर राजेशमान सिंह व अन्य जनप्रतिनिधियों की उपस्थिती में मनायी गयी। 

 
 
 
 
 
धूमधाम के साथ फूलापाती का डोला लेकर मेयर राजेश मान सिंह सहित अन्य की टीम गहवा माई मंदिर पहुंची, जहां पर विधिवत पूजा पाठ के बाद पंच बली दी गयी। इसके साथ ही, यहां मां का खोइछा भी भरा गया। वीरगंज में फूलापाती की रस्म देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग रक्सौल व नेपाल के अलग-अलग इलाके से यहां पहुंचे थे। वीरगंज के मेयर राजेशमान सिंह ने बताया कि फूलापाती की परंपरा बहुत पूरानी है। मां भगवती का आर्शिवाद आदिकाल से संपूर्ण पर रहा है और नवरात्र में सभी अलग-अलग विधि से मां की विधिवत पूजा अर्चना करते है। इधर, दूसरी तरफ नवरात्र को लेकर वीरगंज के राधे माई मंदिर में सांसद प्रदीप यादव के द्वारा विधिवत पूजा अर्चना की गयी। वहीं अलग-अलग पूजा समितियों के द्वारा भव्य डोला यात्रा भी निकाली गयी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS