ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तीन अलग-अलग प्रकल्पों का लोकार्पण कियाभारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिग्गज अभिनेता और निर्देशक बिस्वजीत चटर्जी को 51वें भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार से किया गया सम्मानितभारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल के दो केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान हुआ प्रारंभरक्सौल: सिमुलतला विद्यालय में ईशान ने मारी बाजीउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनावों के लिए भाजपा ने चार उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कीIGIMS से शुरू होगा बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान, सबसे पहला टीका IGIMS के सफाईकर्मी रामबाबू को लगेगाझारखंड: चतरा में 15 लाख के इनामी उग्रवादी मुकेश गंझू ने किया आत्मसमर्पणपूर्वी चम्पारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने डंकन अस्पताल में लगाए गए सिटी स्केन सेन्टर का किया उद्घाटन
नेपाल
नेपाल: ओली सरकार करेगी चितवन जिले की 40 एकड़ ज़मीन पर अयोध्यापुरी का निर्माण
By Deshwani | Publish Date: 30/9/2020 5:17:01 PM
नेपाल: ओली सरकार करेगी चितवन जिले की 40 एकड़ ज़मीन पर अयोध्यापुरी का निर्माण

काठमांडू। बीते छह माह से नेपाल द्वारा भारत के खिलाफ तरह-तरह की बयानबाजी के बीच भारतीय सीमा सोनौली से सटे करीब 120 किलोमीटर दूर चितवन जिले की माडी नगर पालिका ने अयोध्या धाम के निर्माण के लिए भूमि आवंटित की गई। नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के प्रयास के बाद मंगलवार की शाम हुई कार्यकारिणी की बैठक में अयोध्या धाम के निर्माण के लिए 100 बीघा जमीन आवंटित की गई है। नेपाल का यह कदम भारत को और नाराज़ कर सकता है। 

 
माडी के महापौर ठाकुर प्रसाद ढकाल ने नेपाल की राष्ट्रीय समाचार एजेंसी को जानकारी देते हुए बताया कि मंगलवार को नगरपालिका की कार्यकारी निकाय बैठक ने धाम के निर्माण के लिए 100 बीघा जमीन आवंटित करने का फैसला किया। ओली ने 14 जुलाई को भगवान राम के जन्म स्थान के बारे में सनसनीखेज टिप्पणी की और दावा किया कि राम का जन्म नेपाल में हुआ था, न कि भारत स्थित उत्तर प्रदेश के अयोध्या में।
 
ओली ने भारत पर एक फर्जी अयोध्या बनाने का भी आरोप लगाया, जो ओली के अनुसार नेपाल के खिलाफ एक सांस्कृतिक हमला है। ओली के बयान ने भारत और नेपाल दोनों में उस वक़्त हंगामा मचा दिया जब नेपाल-भारत संबंधों में सीमा विवाद और चीन के साथ नेपाल के नज़दीकी के कारण दोनों देशों के संबंधों बिगड़ते हुए दिखने लगे। ढकाल ने कहा अयोध्यापुरी के निर्माण के लिए कहा कि, हमने वार्ड 8 और 9 में अयोध्यापुरी धाम के निर्माण के लिए वर्तमान अयोध्यापुरी पार्क की 100 बीघा जमीन आवंटित की है।
 
भगवान राम के विवादास्पद जन्म स्थान की घोषणा करने के बाद, ओली ने 9 अगस्त को मेयर ढकाल की अगुवाई में माडी नगरपालिका के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की और अधिक सबूत इकट्ठा करने के लिए उस क्षेत्र में खुदाई शुरू करने का निर्देश दिया। ओली ने अपनी सरकार से माडी नगर पालिका को हर संभव समर्थन देने का और साथ ही साथ खुदाई के कामों को पूरा करने के लिए मास्टर प्लान तैयार करने में मदद करने को कहा है इसी के साथ राम, सीता और लक्ष्मण की मूर्तियों को तुरंत स्थापित करने में सहयोग देने का भी वादा किया।
 
ढकाल ने कहा कि हमारे पास अतिरिक्त 50 बीघा जमीन है, जिसका उपयोग हम कोई भी तकनीकी समस्या होने पर कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अयोध्यापुरी धाम के निर्माण के लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया गया है और एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट जल्द ही तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि नगरपालिका, प्रधानमंत्री के निदेर्शानुसार अयोध्यापुरी धाम निर्माण के कार्यों को सुविधाजनक बनाने और प्रबंधित करने के लिए लगातार काम कर रही है। वहीँ दूसरी तरफ ओली के विवादास्पद बयान की उनकी पार्टी के नेताओं के साथ-साथ भारत की सत्तारूढ़ पार्टी, भारतीय जनता पार्टी ने भी आलोचना की थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS