ब्रेकिंग न्यूज़
केन्द्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने शिलांग में पूर्वोत्तर परिषद (एनईसी) की 69 वीं बैठक की अध्यक्षता कीझारखंड: जामताड़ा में अवैध खनन की शिकायत पर पहुंची छापामार टीम पर कोयला माफियाओं ने किया हमला, कई सुरक्षाकर्मी घायलदुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क की नजर अब टेलीकॉम इंडस्ट्री पररक्सौल में सशस्त्र सीमा बल ने नागरिक कल्याण कार्यकम का किया आयोजनसड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के तहत रक्सौल में निकली जागरूकता रैलीआज नई दिल्ली में सरकार और किसान संगठनों के बीच हुई ग्‍यारहवें दौर की बैठकदेश में एविएन फ्लू की स्थितिकेन्‍द्रीय शिक्षा मंत्री ने केन्‍द्रीय विद्यालय बेतिया और केन्‍द्रीय विद्यालय नम्‍बर 4 कोरबा के नवनिर्मित भवनों का उद्घाटन किया
नेपाल
नेपाल पुलिस के जवानों ने नो मैंस लैंड पर चार कोरोना पॉजिटिव शवों को दफनाया, रक्सौल सहित सीमावर्ती इलाको में दहशत
By Deshwani | Publish Date: 13/6/2020 11:16:38 PM
नेपाल पुलिस के जवानों ने नो मैंस लैंड पर चार कोरोना पॉजिटिव शवों को दफनाया, रक्सौल सहित सीमावर्ती इलाको में दहशत

रक्सौल अनिल कुमार। बिरगंज (नेपाल) के प्रशासन, नेपाल सेना के जवान,नेपाल पुलिस जवानो के द्वारा नो मेंस लैंड पर चार कोरोना पॉजेटिव शवों को दफनाने के मामले को लेकर रक्सौल सहित सीमावर्ती लोगो मे हड़कम्प और दहशत व्याप्त हो गया है। जैसे ही लोगों को खबर मिली की कोरोना पोजेटिव चार शवों को भारतीय कस्टम के पास नो मेंस लैंड पर दफनाया जा रहा है भारत-नेपाल के सीमावर्ती गांव के लोग सीमा की तरफ जाने लगे। वहीं इस पूरे घटना से रक्सौल के सीमा से सटे प्रेमनगर इलाके में रहने वाले लोग दहशत में आ गये। मिली जानकारी के अनुसार नेपाल प्रशासन, सेना के जवान,नेपाल पुलिस ने चार शव को लेकर नो-मेंस लैंड पर पूरी तैयारी के साथ पहुंचे। 

 
 
 
 
इस दौरान उनके साथ आधा दर्जन पीपीई किट पहने हुये जवान भी थे। नो-मेंस लैंड पर पहुंचने के बाद पहले जेसीबी की मदद से गढ्ढा बनाया गया और इसके बाद एक-एक कर सभी शवो को नो-मेंस लैंड में गाड़ दिया गया। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि सभी शवो को लकड़ी के तख्ते पर रखकर लाया गया था और दफनाने के बाद नेपाली सेना के जवानो ने अपने पीपीई किट को नो-मेंस लैंड पर ही पेट्रोल डाल कर जला दिया। इसके बाद उनके साथ ही नेपाल अग्निशामक की टीम के द्वारा इस कार्य में प्रयोग की गयी जेसीबी मशीन व शव को लाये गये एबुलेंस को सैनिटाइज किया गया। इस पूरे घटना के कारण रक्सौल के सीमाई इलाके में तनाव और दहशत का माहौल कायम हो गया है।
 
 
 
 
सीमा पर प्रेमनगर सहित कई गांव के लोग इस घटना के बाद से काफी भयभीत है। लोगों का कहना है कि जब शवो को दफनाना था तो नेपाल के अंदर भी बहुत जगह थी, लेकिन र्दुभावना के कारण इसे बॉर्डर के पास लाकर दफनाया गया है,जहाँ से भारत-नेपाल से आने जाने वाले यात्रियों का मुख्य मार्ग है। वहीं इस पूरे मामले में एसएसबी के सेनानायक प्रियवर्त शर्मा ने बताया इस बात की जानकारी हुई है। इसको लेकर हमारे सेंट्रल के अधिकारी नेपाल के अधिकारियों से बात कर रहे है कि ऐसा कार्य क्यो किया गया।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS