ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोजमोतिहारी के झखिया में पुलिस ने घेराबंदी कर की कार्रवाई, शशि सहनी गिरफ्तार, 125 कार्टन अंग्रेजी शराब जब्तभोजपुरी सेंशेसन अक्षरा सिंह का नया गाना ‘कोरा में आजा छोरा’ रिलीज के साथ हुआ वायरल
नेपाल
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान
By Deshwani | Publish Date: 11/5/2019 11:00:05 AM
नेपाल: मीडिया पर अंकुश लगाने को लेकर विधेयक पेश, आचार संहिता का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान

काठमांडू। नेपाली सरकार ने  मीडिया परिषद से संबंधित विधेयक पेश किया है जिसमें किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाए जाने पर  मीडिया आउटलेट, संपादक, प्रकाशक और पत्रकारों पर दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाने का प्रावधान है। 

 
समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, नए विधेयक की धारा 18 के मुताबिक अगर किसी प., पत्रिका में छपी सामग्री आचार संहिता का उल्लंघन करती है और उससे किसी संस्था की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो उस मीडिया आउटलेट, प्रकाशक, संपादक, पत्रकार और संवाददाता पर 25 हजार से दस लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।
 
विधेयक की धारा 18 की उपधारा 2 के अनुसार यदि मीडिया की सामग्री से किसी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है तो पीड़ित पक्ष  मुआवजे की मांग भी कर सकता है। इतना ही नहीं  आचार संहिता का उल्लंघन करने पर धारा 17 के तहत  संबद्ध्  पत्रकार का प्रेस पास रद्द करने  का प्रावधान है।
 
नेपाल प्रेस परिषद के कार्यकारी  किशोर श्रेष्ठा ने बताया कि सरकार ने संबंधित  पक्ष से परामर्श के बिना यह विधेयक लाया गया है। इस विधेयक के पारित होने से पत्रकार और प्रेस की आजादी सीमित हो जाएगी और कई मीडिया आउटलेट जुर्माना अदा नहीं करने की स्थिति में बंद भी हो जाएंगे। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS