ब्रेकिंग न्यूज़
नेपाल: देशभक्त राजभक्त समूह पर्सा ने वीरगंज महाबीर मंदिर के पास सम्मान कार्यक्रम का किया आयोजनमौसम विभाग: चक्रवाती तूफान निवार 11 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहाबंगलादेश: राष्ट्रपिता बंगबंधु शेख मोजिबुर्रहमान को श्रद्धांजलि देने के लिए कल ढाका में लगाई गई एक चित्र प्रदर्शनीटीम इंडिया की जर्सी में बीसीसीआई ने किए कुछ बदलावजान कुमार सानू के बयान पर कुमार सानू का आया रिएक्शन, कुमार सानू ने कहा- मैंने वो सब दिया जो कुछ जान की मां ने मांगा थामहापर्व छठ की समाप्ति के बाद जमा हुए जिले के वरिष्ठ क्रिकेट खिलाड़ी, हुआ फैंसी क्रिकेट मैच का आयोजनझारखंड: इन जिलों में कोरोना संक्रमण की दर में हुई काफी वृद्धिकोविड-19: मुख्‍यमंत्री अरविन्‍द केजरीवाल ने आज नई दिल्‍ली में सर्वदलीय बैठक की
बिहार
एनआईटी पटना के छात्रों ने परीक्षा स्थगित कराने को चलाई मुहिम, सोशल मीडिया पर उठा रहे अपनी आवाज
By Deshwani | Publish Date: 8/7/2020 12:03:34 PM
एनआईटी पटना के छात्रों ने परीक्षा स्थगित कराने को चलाई मुहिम, सोशल मीडिया पर उठा रहे अपनी आवाज

पटना कोरोना संक्रमण के बीच एनआईटी पटना में इंड सेमेस्टर की ऑनलाइन परीक्षा 13 जुलाई से होनी है। लेकिन छात्र ऑनलाइन परीक्षा देने में सक्षम नहीं है। इसलिए छात्रों ने एनआईटी प्रशासन के खिलाफ विरोध शुरू कर दिया है। एनआईटी ने 13 जुलाई से छात्रों की परीक्षा कराने का फैसला लिया है। इस आदेश के खिलाफ एनआईटी के छात्र गोलबंद बंद हो गए हैं।  परीक्षा नहीं कराए जाने को लेकर छात्रों ने मुहिम छेड़ दी है। ट्विटर पर इस को लेकर उनके कई तर्क हैं। #justicefornitpian #nit #patna #studentlifematter ट्रेंड कर रहा है। छात्रों के  पक्ष में राजद के प्रवक्ता राज्यसभा सांसद प्रो मनोज कुमार झा ने परीक्षा स्थगित करा कर छात्रों को प्रमोट करने की मांग की है। इनके ट्वीट के बाद से ही छात्रों का भी ट्वीट, ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा। सभी छात्र ट्विटर पर अपनी-अपनी बातें रख रहे हैं। ट्विटर के जरिए अपनी मांग एमएचआरडी, प्रधानमंत्री, शिक्षा मंत्री तक पहुंचा रहे हैं। 

 
 
 
छात्र परीक्षा नहीं कराने के अपने-अपने तर्क दे रहे हैं। छात्रों का तर्क है कि सभी छात्र अपने-अपने घर पर हैं। अलग-अलग इलाकों के हैं, जान को दांव पर लगाकर परीक्षा देना सही नहीं है। यदि कई गांवों में बिजली की समस्या है। कुछ छात्रों के पास लैपटॉप भी नहीं है और ना ही इंटरनेट की अच्छी व्यवस्था। इस तरह छात्र कैसे एग्जाम देंगे। अगर कोई केंपस भी आना चाहे तो ट्रांसपोर्ट सुविधा तत्काल अच्छी नहीं होने के कारण वह कैंपस कैसे पहुंच पाएंगे? इसके साथ ही संस्था और शहर के हॉस्टल भी बंद है। इस कारण कैंपस में भी छात्र नहीं आ सकते है।
 
एनआईटी के छात्र सोशल मीडिया पर भी उठा रहे हैं अपनी आवाज:- 
 
एनआईटी के छात्र  एनआईटी प्रशासन की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर सोशल मीडिया पर अपनी आवाज उठा रहे हैं। इसमें कई छात्रों ने यह भी कहा है कि उनके घर पर इंटरनेट की कनेक्टिविटी नहीं है और आसपास भी इंटरनेट कैफे नहीं है। इसमें छात्रों ने यह भी कहां है भले ही हर छात्र को लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन क्लास कराई गई लेकिन अधिकांश स्टूडेंट अपने निवास क्षेत्र के आसपास इंटरनेट कमिटी की समस्या से ऑनलाइन क्लास भी नहीं कर सके।
 
 
कोरोनावायरस के कारण अचानक से लॉक डाउन होने की वजह से स्टूडेंट अपना स्टडी मटेरियल संस्था से नहीं ले सके और अधिकांश छात्रों का लैपटॉप भी संस्था में ही रह गया। वर्तमान में कैंपस बंद है और सभी स्टूडेंट अपने घर पर हैं। इस स्थिति में छात्र परीक्षा दे तो आखिर कैसे दें? परीक्षा शेड्यूल जारी होने के बाद से ही छात्र काफी परेशान है। कोविड-19 के कारण हॉस्टल खाली है। छात्र अपने-अपने घर पर हैं,जहां इंटरनेट की काफी समस्या है। इन्हीं समस्याओं के कारण छात्रों ने यह मुहिम छेड़ी है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS