ब्रेकिंग न्यूज़
मोतिहारी की छतौनी पुलिस ने लकड़ी लदे ट्रक में छुपाकर रखी भारी मात्रा में शराब जब्त की, 6 गिरफ्तार, झखिया में देनी थी डिलेवरीमोतिहारी के कल्याणपुर में पूर्व प्रमुख के पति की रड व चाकू से गोदकर हत्या, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रकाश अस्थाना के छोटे भाई जेपी अस्थाना भी गंभीर घायलसमस्तीपुर: आपसी विवाद में चली गोली से महिला सहित दो जख्मी, गंभीर स्थिति में रेफरअभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच की मांग को लेकर राज्‍यभर में हुआ प्रदर्शनमोतिहारी में एनएच 28 पर जय माता दी बस की चपेट में आए दो लोग, वाटगंज के मेडिकल प्रैक्टिसनर व भतीजे की मौत, बारिश में छतरी लगाकर राजमार्ग जाममोतिहारी के मधुबन में बारात में चली गोली, गोढ़वा के युवक की मौत, आर्म्स के साथ एक गिरफ्तारमोतिहारी के चकिया ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो की मौके पर मौत, तीसरा घायल, लोगों ने रात में ही कर दी सड़क जामसमस्तीपुर में मौत बनकर गिरी आकाशीय बिजली, आठ लोगों की मौत
राष्ट्रीय
निर्भया सामूहिक दुष्कर्म व हत्या मामले के चारों दोषियों को शुक्रवार की सुबह 5:30 बजे सुबह तिहाड़ जेल में हुई फांसी
By Deshwani | Publish Date: 20/3/2020 10:34:10 AM
निर्भया सामूहिक दुष्कर्म व हत्या मामले के चारों दोषियों को शुक्रवार की सुबह 5:30 बजे सुबह तिहाड़ जेल में हुई फांसी

नई दिल्ली। निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के चारों दोषी - पवन गुप्ता, विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर और मुकेश सिंह को आज सुबह दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई। इससे पहले दोषियों ने फांसी से बचने के लिए हरसंभव कानूनी उपायों का इस्तेमाल किया। दिल्ली उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय ने कल रात सज़ा पर रोक लगाने की दोषियों की अंतिम याचिका भी खारिज कर दी। 

 

निर्भया सामूहिक दुष्कर्म मामले के दोषियों की फांसी पर राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा है कि अंततः निर्भया को न्याय मिला। उन्होंने आशा व्यक्त की कि यह मामला औरों के लिए सबक बनेगा।


दिसंबर 2012 में पैरा-मेडिकल छात्रा निर्भया के साथ दक्षिण-पश्चिम दिल्ली में एक चलती बस में छह लोगों ने दुष्कर्म किया था। इस मामले के दोषियों में से एक ने जेल में आत्म हत्या कर ली थी और एक अन्य किशोर अभियुक्त को तीन साल तक बाल सुधार गृह में रखे जाने के बाद रिहा कर दिया गया था।

निर्भया के माता-पिता ने कहा कि यह सज़ा भविष्य में अपराधियों के लिए सबक बनेगी। उन्होंने निर्भया और देश की लाखों महिलाओं को न्याय देने के लिए भारतीय न्यायपालिका का आभार व्यक्त किया।


आज का दिन हमारी बच्चियों के नाम, हमारी महिलाओं के नाम। मैं अपने न्‍याय व्‍यवस्‍था को, अपने राष्‍ट्रपति महामहि‍म को, अपने सरकारों को बहुत-बहुत धन्‍यवाद देती हॅूं। इन चारों को फांसी देकर साबित किया कि नहीं अगर महिलाओं के साथ बच्चियों के साथ अगर ऐसा घिनौना अपराध होगा तो बच्चियों को इन्‍साफ मिलेगा और मुजरिमों को सजा मिलेगी।

 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS