ब्रेकिंग न्यूज़
केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह ने कर्नाटक के बेंगलुरु में तीन अलग-अलग प्रकल्पों का लोकार्पण कियाभारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिग्गज अभिनेता और निर्देशक बिस्वजीत चटर्जी को 51वें भारतीय व्यक्तित्व पुरस्कार से किया गया सम्मानितभारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रक्सौल के दो केन्द्रों पर कोविड वैक्सीनेशन अभियान हुआ प्रारंभरक्सौल: सिमुलतला विद्यालय में ईशान ने मारी बाजीउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनावों के लिए भाजपा ने चार उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी कीIGIMS से शुरू होगा बिहार में कोरोना टीकाकरण अभियान, सबसे पहला टीका IGIMS के सफाईकर्मी रामबाबू को लगेगाझारखंड: चतरा में 15 लाख के इनामी उग्रवादी मुकेश गंझू ने किया आत्मसमर्पणपूर्वी चम्पारण के डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने डंकन अस्पताल में लगाए गए सिटी स्केन सेन्टर का किया उद्घाटन
राष्ट्रीय
गुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव
By Deshwani | Publish Date: 30/11/2020 11:51:22 AM
गुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव

नई दिल्ली। गुरु नानक जयंती और गुरुपर्व सोमवार को भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव मनाया जा रहा है। यह पर्व सिक्खों के प्रथम गुरु गुरुनाक देव जी जन्मोत्सव के उपलक्ष में मनाया जाता है। उन्होंने सिक्ख धर्म की स्थापना की थी। इस वर्ष गुरु नानक देव जी का पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं दी हैं। मन की बात कार्यक्रम में श्री मोदी ने कहा कि वे गुरु नानक देव जी के लोकहितकारी विचारों से गहन रूप से प्रभावित हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि विश्वभर में गुरु नानकदेव जी का प्रभाव देखा जा सकता है।

इस दिन विश्वभर श्रद्धालु प्रार्थना और कीर्तन में शामिल होते हैं। अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में भी गुरु पर्व बहुत उल्लास से मनाया जाता है।

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावेड़कर महाराष्ट्र के नांदेड़ में हुजूर साहेब सचखंड गुरुद्वारा में मत्था टेकेंगे। वे वहां लंगर वितरित करेंगे और पांच सौ पचास पौधे लगाने के अभियान में शामिल होंगे। वे गुरु नानक देव जी की जीवन यात्रा और उनके संदेश को दर्शाती सरकार द्वारा आयोजित प्रदर्शनी को भी देखेंगे। गुरु नानक देव जी की जीवन यात्रा में नांदेड़ का  विशेष महत्व है। नांदेड़ में ही सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोविंद सिंह जी ने कहा था कि गुरु ग्रंथ साहेब को भविष्य में सिखों के लिए सच्चा गुरु माना जायेगा। नांदेड़ में विश्वभर से तीर्थयात्री आते हैं।

गुरु नानक देव जी का जन्म 1526 में कार्तिक महीने में पूर्णिमा के दिन हुआ था। प्रत्येक वर्ष कार्तिक पूर्णिमा के दिन गुरुनानक देव जी का प्रकाश पर्व मनाया जाता है। गुरु नानक देव जी एक दार्शनिक, समाज सुधारक, चिंतक और कवि थे। आज के दिन श्रद्धालु विभिन्न स्थानों पर लंगर आयोजित करते हैं।

प्रकाश पर्व समारोह भारत के अलावा अन्य देशों में भी आयोजित किए जाते हैं। दुबई में भारतीय उच्चायोग की सजावट की गई है। उधर, नेपाल और श्रीलंका में भी कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।

राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने गुरुनानक जयंती की बधाई दी है। श्री कोविंद ने कहा कि गुरुनानक देवजी का जीवन और संदेश पूरी मानवता को प्रेम, करुणा, समानता और भाईचारे की राह दिखाता है। उन्होंने कहा कि गुरुनानक देवजी ने सच्चे ज्ञान के आलोक से लोगों को तमाम भेदभाव और आडंबरों से मुक्त होने के लिए प्रेरित किया। नाम जपो, कीरत करो और वंड छको का उनका संदेश ईश्वर के प्रति आभार व्यक्त करते हुए ईमानदारी और कठिन परिश्रम से अपना कर्तव्य निभाने और जरूरतमंदों के साथ सुख साझा करने की प्रेरणा देता है। गुरुनानक देवजी ने समानता और भाईचारे पर आधारित समाज पर जोर दिया।

उप-राष्ट्रपति वैंकैया नायडू ने अपने संदेश में कहा कि गुरुनानक देवजी ने भारत के उदात्त आध्यात्मिक मूल्यों के प्रतीक थे और उन्होंने धर्मों के बीच एकता से आम लोगों को आपसी भाईचारे का संदेश दिया। उप-राष्ट्रपति ने कहा कि गुरुनानक देवजी का दिव्य संदेश हमेशा लोगों को सत्य और करुणा के पथ पर अग्रसर करेगा।

श्रीगुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर लोगों को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि श्री गुरुनानक देव जी के न्यायपूर्ण, समावेशी और सद्भावपूर्ण समाज के सपने को साकार करने के लिए यह स्वयं को पुनः समर्पित करने का दिन है।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि गुरु नानक देव जी भारत की समृद्ध संत परम्परा के अनूठे प्रतीक थे और उनकी शिक्षाएं, मानवता की सेवा की प्रेरणा देती हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में एतिहासिक करतापुर कॉरि़डोर देशवासियों को समर्पित करना गुरुनानक देवजी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है।

सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि गुरुनानक देवजी ने सच्ची मनुष्यता की राह दिखाई और सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का संदेश दिया।
आज ही कार्तिक पूर्णमा भी है। उत्तर प्रदेश में कार्तिक पूर्णिमा, गुरुनानक देवजी का प्रकाश पर्व और देव दीपावली धार्मिक आस्था और उल्लास से मनाई जा रही है। तड़के से ही लाखों श्रद्धालु प्रदेश की विभिन्न नदियों में स्नान कर रहे हैं। मथुरा, वाराणसी, प्रयागराज, अयोध्या, चित्रकूट, बरेली और गढ़ मुक्तेश्वर सहित विभिन्न भागों में गंगा, सरयू, मंदाकिनी, यमुना और घाघरा नदियों में स्नान के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा है। कार्तिक पूर्णिमा, गुरुनानक जयंती और देव दीपावली के तीन पावन उत्सवों को देखते हुए व्यापक सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS