ब्रेकिंग न्यूज़
निगरानी की टीम ने मोतिहारी डीटीओ कार्यालय से डेटा ऑपरेटर व प्रधान सहायक को किया गिरफ्तार, टीम ने कहा- 39 हजार रुपए लेते रंगे हाथ दबोचा गयामोतिहारी पुलिस ने कार पर लदी नेपाली बीयर के साथ चार को पकड़ा, बदमाशों में एक पर स्वर्णकार को गोलीमार घायल कर आभूषण लूटने का आरोपसमस्तीपुर : अब नए समय से चलेगी वैशाली एक्सप्रेस व स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनबेतिया एमजेके सदर अस्पताल को जीएमसीएच भवन में किया जायेगा शिफ्टरामगढ़वा में कार सहित 11 लाख 53 हजार रुपये व एक पिस्टल के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तारपश्चिम चंपारण: पुलिस ने किया ट्रेक्टर लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश,5 गिरफ्तारसमस्तीपुर: पटोरी में गला रेतकर युवक की हत्या, युवक को दोनों हाथ बांध गला रेतने की आशंकागुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव
राष्ट्रीय
अनुच्छेद 370 की बहाली पर विवादित बयान देकर बुरे फंसे फारूक अब्दुल्ला, बीजेपी के बाद अब कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी घेरा
By Deshwani | Publish Date: 13/10/2020 5:44:32 PM
अनुच्छेद 370 की बहाली पर विवादित बयान देकर बुरे फंसे फारूक अब्दुल्ला, बीजेपी के बाद अब कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी घेरा

नई दिल्ली। चीन की मदद से अनुच्छेद 370 की बहाली को लेकर नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के नेता फारूक अब्दुल्ला के बयान पर बीजेपी के बाद कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी पलटवार किया है। सिंघवी ने कहा कि फारूक अब्दुल्ला का बयान बेहद गैर जिम्मेदाराना और निंदनीय है। हालांकि, एनसी की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री को बयान को लेकर सफाई दी गई है और कहा है कि उनकी बात का गलत मतलब निकाला गया।

 
मंगलवार को ट्विटर पर सिंघवी ने ट्वीट करते हुए लिखा, राजनीतिक विचारधारा, मतभेद, मनभेद सब अपनी जगह हैं लेकिन उस वक्त जब चीन हमारी सरहदों पर नापाक इरादों के साथ तैनात है, तब फारूक अब्दुल्ला का चीन के पक्ष में बयान न केवल बेहद गैर जिम्मेदाराना है बल्कि निंदनीय भी।
 
वहीं नेकां का कहना है कि बीजेपी ने फारूक अब्दुल्ला के बयान को तोड़ मरोड़ कर गलत तरीके से पेश किया है। हालांकि इस पूरे विवाद पर अब्दुल्ला की ओर से अभी तक कोई बयान सामने नहीं आया है। अब्दुल्ला के इस बयान को बीजेपी ने देशद्रोही बताते हुए कहा, पाकिस्तान और चीन को लेकर जिस प्रकार की नरमी और भारत को लेकर जिस प्रकार की बेशर्मी इनके मन में है, ये बातें अपने आप में बहुत सारे प्रश्न खड़े करती हैं।
 
दरअसल, भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख सीमा को लेकर विवाद चल रहे विवाद के बीच जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने विवादित बयान देते हुए कहा कि चीन के समर्थन से जम्मू-कश्मीर में फिर से अनुच्छेद 370 को लागू किया जाएगा।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS