ब्रेकिंग न्यूज़
निगरानी की टीम ने मोतिहारी डीटीओ कार्यालय से डेटा ऑपरेटर व प्रधान सहायक को किया गिरफ्तार, टीम ने कहा- 39 हजार रुपए लेते रंगे हाथ दबोचा गयामोतिहारी पुलिस ने कार पर लदी नेपाली बीयर के साथ चार को पकड़ा, बदमाशों में एक पर स्वर्णकार को गोलीमार घायल कर आभूषण लूटने का आरोपसमस्तीपुर : अब नए समय से चलेगी वैशाली एक्सप्रेस व स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनबेतिया एमजेके सदर अस्पताल को जीएमसीएच भवन में किया जायेगा शिफ्टरामगढ़वा में कार सहित 11 लाख 53 हजार रुपये व एक पिस्टल के साथ एक व्यक्ति गिरफ्तारपश्चिम चंपारण: पुलिस ने किया ट्रेक्टर लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश,5 गिरफ्तारसमस्तीपुर: पटोरी में गला रेतकर युवक की हत्या, युवक को दोनों हाथ बांध गला रेतने की आशंकागुरु नानक जयंती और गुरुपर्व आज, भारत सहित विश्व भर में धार्मिक श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा पांच सौ 51वां प्रकाशोत्सव
राष्ट्रीय
दो न्यूज चैनलों के खिलाफ दिल्‍ली हाई कोर्ट पहुंचा बॉलीवुड, गलत तरीके से रिपोर्टिंग करने का लगा आरोप
By Deshwani | Publish Date: 12/10/2020 8:45:11 PM
दो न्यूज चैनलों के खिलाफ दिल्‍ली हाई कोर्ट पहुंचा बॉलीवुड, गलत तरीके से रिपोर्टिंग करने का लगा आरोप

नई दिल्‍ली। बॉलीवुड से जुड़े कई एसोसिएशन और करीब 34 फिल्‍म निर्माताओं ने देश के दो चैनलों के खिलाफ दिल्‍ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इन पर गलत तरीके से क्राइम रिपोर्टिंग करने का आरोप लगा है। इसमें रिपब्‍लिक टीवी और आर भारत के सीइओ अर्नब गोस्‍वामी भी कटघरे में हैं। बॉलीवुड एसोसिएशन ने दिल्‍ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटा कर न्‍याय की मांग की है। इस याचिका में बॉलीवुड के चार एसोसिशन सहित 34 फिल्‍म निर्माता शामिल जिन्‍होंने कार्रवाई की मांग की है।

 
इसमें दो प्रमुख चैनल रिपब्‍लिक टीवी और टाइम्‍स नाउ है। इसमें अर्नब गोस्‍वामी, प्रदीप भंडारी, राहुल शिवशंकर और नवीका कुमार सहित कई लोग भी आरोपित हैं। याचिका में कहा गया है कि इन्‍होंने अमर्यादित तरीके से खबरों को प्रस्‍तुत किया है। इससे बॉलीवुड की गरिमा को ठेस पहुंची है। बॉलीवुड उसके सदस्यों के खिलाफ गैर जिम्मेदाराना, अपमानजनक और अपमानजनक टिप्पणी करना या प्रकाशित करने के खिलाफ एक्‍शन की मांग की गई है।
 
बता दें कि इससे पहले क्राइम रिपोर्टिग के लिए दिशानिर्देश तैयार करने की मांग को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। मुख्य न्यायमूर्ति ने याचिकाकर्ता से कहा है कि अगली सुनवाई पर वह बताएं कि इस बाबत मीडिया के लिए किस तरह के नियम-कानून बनाया जाएं। अगली सुनवाई 27 नवंबर को होगी।
 
मुहम्मद खलील ने याचिका में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के मामले में एक न्यूज चैनल द्वारा खोजी पत्रकारिता के नाम पर भ्रामक जानकारी देने का आरोप लगाया है। खलील ने कहा कि ऐसे चैनलों को क्राइम की रिपोर्टिंग करने से रोका जाए। याची ने दलील दी कि इस प्रकार की भ्रामक जानकारी अदालत की निष्पक्ष सुनवाई को प्रभावित कर सकती है। इसलिए जरूरी है कि केंद्र सरकार को रिपोर्टिंग के लिए दिशानिर्देश तैयार करने के संबंध में निर्देश दिया जाए।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS