ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोज
राष्ट्रीय
कोरोना वायरस : उत्तर रेलवे ने रेल कोच में तैयार किया पहला आइसोलेशन वार्ड
By Deshwani | Publish Date: 28/3/2020 10:40:20 AM
कोरोना वायरस : उत्तर रेलवे ने रेल कोच में तैयार किया पहला आइसोलेशन वार्ड

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप से लड़ने के लिए रेलगाड़ियों की बोगियां क्वारंटाइन और आइसोलेशन वार्ड के रूप में तैयार की जा रही हैं। इसकी शुरुआत उत्तर रेलवे ने ट्रेन के एक कोच में कुछ बदलाव कर पहला प्रोटोटाइप हॉस्पिटल आइसोलेशन वार्ड तैयार कर किया है।

उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि उत्तर रेलवे द्वारा तैयार किए गए इस पहले प्रोटोटाइप कोच को मंजूरी मिलने के बाद इसे अंतिम रूप दिया जाएगा। एक कोच में 10 आइसोलेशन वार्ड होंगे। उन्होंने कहा कि इस मॉडल को मंजूरी मिलने के बाद प्रत्येक रेलवे जोन सप्ताह में 10-10 बोगियों को आइसोलेशन वार्ड में बदलना शुरू कर देगा। इससे दूर-दराज के इलाकों में कोविड-19 के मरीजों के इलाज में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि रेलवे ने कोच में आइसोलेशन वार्ड तैयार करने के लिए बीच के बर्थ को एक तरफ से हटाया गया है। इसके साथ ही मरीज़ के बर्थ के सामने के सभी तीन बर्थों और बर्थ पर चढ़ने के लिए बनी सभी सीढ़ियों को भी हटा दिया है।आइसोलेशन कोच को तैयार करने के लिए बाथरूम, गलियारे और दूसरी जगहों पर भी फेरबदल किया गया है।

रेलवे द्वारा तैयार आइसोलेशन वार्ड में हर कोच में आखरी पार्टीशन से दरवाजे को हटा दिया गया है। कोच के आखिर में भारतीय टॉयलेट को बाथरूम में बदल दिया गया है। प्रत्येक बाथरूम में हैंड शावर एक बाल्टी और मग रखने का प्रावधान है। चिकित्सा उपकरणों के लिए प्रत्येक डिब्बे में 220 वाट के विद्युत बोर्ड भी उपलब्ध हैं।

उल्लेखनीय है कि देश में लगातार कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों को अस्पताल में जगह न मिलने पर यह रेल डिब्बे आइसोलेशन वार्ड के रूप में इस्तेमाल हो सकेंगे। 

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS