राष्ट्रीय
नागरिकता विधेयक का पारित होना देश के इतिहास का काला दिनः सोनिया गांधी
By Deshwani | Publish Date: 11/12/2019 10:00:11 PM
नागरिकता विधेयक का पारित होना देश के इतिहास का काला दिनः सोनिया गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पड़ोसी देशों के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता देने संबंधी विधेयक के पारित होने को देश के संसदीय इतिहास का काला दिन बताया है। उन्होंने कहा कि यह संकीर्ण मानसिकता और देश के बहुसांस्कृतिक स्वरूप पर धर्मांध ताकतों की जीत है।


राज्यसभा में बुधवार को इस विधेयक के पारित होते ही कांग्रेस अध्यक्ष ने एक बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि यह विधेयक भारत के मूलभूत विचारों को पूरी तरह चुनौती देता है तथा हमारे पूर्वजों के संघर्ष को नकारता है। इसके जरिए मजहब को राष्ट्रवाद का निर्णायक तत्व बना दिया गया है तथा एक अशांत, विकृति और विभाजित भारत की स्थापना करने की कोशिश हुई है। उन्होंने कहा कि यह विधेयक समानता और धर्म के आधार पर भेदभाव नहीं किए जाने के शाश्वत सिद्धांतों पर हमला है। उन्होंने चेतावनी दी कि इस विधेयक के गंभीर परिणाम होंगे तथा देश की आत्मा आहत होगी।


सोनिया गांधी ने कहा कि यह बहुत दुर्भाग्य की बात है कि पूरी दुनिया जब महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रही है, उस वक्त भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस विधेयक को पेश किया। सोनिया ने कहा कि क्षोभ के इन क्षणों में कांग्रेस पार्टी स्पष्ट करना चाहती है कि वह भाजपा के खतरनाक और देश में ध्रुवीकरण करने के एजेंडे के खिलाफ लगातार संघर्ष करेगी।


image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS