ब्रेकिंग न्यूज़
बीरगंज में नेपाल पुलिस ने छापेमारी कर तस्करी के 6 भैंस के साथ तीन लोगों को किया गिरफ्तारदिव्या शक्ति ने पहले प्रयास में ही सिविल सर्विस परीक्षा में मारी बाजीबांग्लादेश: पिछले 24 घंटे में बाढ़ की स्थिति में हुआ सुधारअयोध्या राम मंदिर: कल होने वाले भूमि पूजन को लेकर भव्य तैयारीदेश में कोरोना वायरस से 12 लाख 30 हजार 500 से अधिक रोगी हुए स्वस्थकोविड-19 पाॅजिटिव मरीजों को हर हाल में मुहैया करायें मेडिसिन किट्स: डीएमबेतिया के गली-नाली पक्कीकरण योजनान्तर्गत पेवर ब्लाॅक का करें इस्तेमाल: जिलाधिकारीमोतिहारी डीएम ने कहा - कोविड-19 सैंपलिंग में प्रगति नहीं तो होगी कार्रवाई, अनुपस्थित लैब टेक्नीशियन व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का रुकेगा वेतन
राष्ट्रीय
हैदराबाद दुष्कर्म एवं जघन्य हत्या मामले में संसद सदनों से निकली एक आवाज़ दोषियों को कड़ी सजा की मांग
By Deshwani | Publish Date: 5/12/2019 10:37:23 AM
हैदराबाद दुष्कर्म एवं जघन्य हत्या मामले में संसद सदनों से निकली एक आवाज़ दोषियों को कड़ी सजा की मांग

 नई दिल्ली। संसद के दोनों सदनों में हैदराबाद में सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद पशु चिकित्‍सक की हत्‍या के जघन्‍य मामले की कड़ी निन्‍दा की गई और सदस्‍यों ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। राज्‍यसभा में विभिन्‍न राजनीतिक दलों के सदस्‍यों ने  घटना की निन्‍दा करते हुए महिलाओं के प्रति अपराध के लिए दोषियों को कड़ी सजा देने, कानून और पुलिस व्यवस्था में बदलाव की मांग की।

 
सभापति एम0 वेंकैया नायडू ने भी ऐसी घटनाओं पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि केवल कानून बनाना पर्याप्त नहीं है। उन्‍होंने कहा कि हैदराबाद की घटना एक कलंक है। विपक्ष के नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि देश और समाज को इस तरह के जघन्य अपराध के खिलाफ खड़ा होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि लोगों को संवेदनशील बनाने की जरूरत है।समाजवादी पार्टी की सुश्री जया बच्चन ने उस क्षेत्र में तैनात सुरक्षा अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की जहां यह घटना हुई थी। उन्‍होंने इस तरह के जघन्‍य अपराध करने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की भी मांग की। 
 
तृणमूल के  सांतनु सेन ने भी दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने इसका समर्थन करते हुए कहा कि महिलाओं के खिलाफ अपराध पर अंकुश लगाने के लिए केवल कानून बनाना ही पर्याप्‍त नहीं है। राष्‍ट्रीय जनता दल के मनोज झा ने समाज में लोगों की मानसिकता को बदलने की आवश्यकता पर बल दिया। ऑल इंडिया अन्‍ना डीएमके पार्टी की सुश्री विजिला सथ्यनाथन ने ऐसी घटनाओं के मामलों को निपटाने के लिए फास्ट ट्रैक अदालतों की संख्या बढ़ाने की मांग की। बीजू जनता दल के अमर पटनायक ने भी लोगों की मानसिकता बदलने की आवश्यकता पर जोर दिया। अकाली दल के नरेश गुजराल ने अदालतों में लम्बित मामलों और ऐसे मामलों में न्याय में हो रही देरी की ओर सदन का ध्यान आकर्षित किया। मार्क्‍सवादी कम्‍युनिस्‍ट पार्टी के टी0 के0 रंगराजन ने मीडिया से महिलाओं के खिलाफ अपराध पर जागरूकता पैदा करने का आग्रह किया। लोकसभा में भी इस घटना की कड़ी निन्‍दा की गई। सरकार ने सदन को आश्‍वस्‍त किया कि वह इस मामले पर चर्चा कराने और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए कानून बनाने को तैयार है। 
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर बहस कराने और दोषियों को सजा दिलाने के लिए कानून बनाने को तैयार है। उन्‍होंने कहा कि वे सदन की भावनाओं के साथ हैं और दोषियों को जल्‍द से जल्‍द सजा मिलनी चाहिए। संसद से बाहर संवाददाताओं से बातचीत में केन्‍द्रीय गृह राज्‍यमंत्री जी0 किशन रेड्डी ने कहा है कि हैदराबाद दुष्‍कर्म पीडि़ता के परिजनों को तेजी से न्‍याय दिलाया जायेगा। उन्‍होंने राज्‍य सरकार के अधिकारियों और पीडि़ता के परिजनों से मुलाकात की है। श्री रेड्डी ने राज्‍य सरकार से इस मामले में शीघ्रता से जांच करने को कहा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS