ब्रेकिंग न्यूज़
स्ट्रीट डांसर 3d में ऐसा होगा श्रद्धा कपूर का लुक, वरुण धवन ने शेयर किया पहला पोस्टरसमस्तीपुर के दलसिंहसराय में महिला से दुष्कर्म के बाद हत्या, गेहूं के खेत में मिला शवराजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी वर्षा, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में रेड अलर्ट जारीपीएम मोदी ने संसद भवन पर आतंकी हमले में शहीदों को दी श्रद्धांजलिनागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरीझारखंड विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 1:00 बजे तक 45% से अधिक मतदानआज उच्‍चतम न्‍यायालय में दुष्‍कर्म और हत्‍या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की एसआईटी जांच की याचिकाओं पर होगी सुनवाईएक संसदीय समिति ने कहा है कि सरकार को रसोई गैस पर अधिक सब्सिडी वाली एक और योजना शुरू करने के बारे में करना चाहिए विचार
राष्ट्रीय
इलेक्टोरल बॉन्ड के मुद्दे पर लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा, बहिर्गमन
By Deshwani | Publish Date: 21/11/2019 4:24:16 PM
इलेक्टोरल बॉन्ड के मुद्दे पर लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा, बहिर्गमन

नई दिल्ली। कांग्रेस ने इलेक्टोरल बॉन्ड के दुरुपयोग और सरकारी कंपनियों के विनिवेश के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुये गुरुवार को लोकसभा में हंगामा किया और बाद में सदन से बहिर्गमन किया जबकि सरकार ने अपना बचाव करते हुये कहा कि उस पर आज तक भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है।

 
कांग्रेस के मनीष तिवारी ने शून्यकाल के दौरान यह मुद्दा उठाते हुये कहा कि रिजर्व बैंक और चुनाव आयोग के विरोध के बावजूद सरकार ने चुनावी बॉन्ड जारी कर “सरकारी भ्रष्टाचार” को अमली जामा पहनाया। उन्होंने कहा “सरकार के अज्ञात चुनावी बॉन्ड जारी करने से सरकारी भ्रष्टाचार को अमली जामा पहनाया गया। इसमें न तो चंदा देने वाले का, न चंदे की राशि के स्रोत का और न ही चंदा पाने वाले का पता होता है। पहले सिर्फ लोकसभा चुनाव के लिए चुनावी बॉन्ड जारी करने का प्रावधान था, लेकिन कर्नाटक चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री कार्यालय के आदेश पर...।”
 
इसके बाद अध्यक्ष ओम बिरला ने उन्हें यह कहकर रोक दिया कि वे किसी का नाम नहीं ले सकते। तिवारी ने कहा कि उनके पास इसके साक्ष्य के रूप में दस्तावेज हैं जिन्हें वे सदन के पटल पर रख सकते हैं। इस पर श्री बिरला ने कहा कि वह कागजात सदन के पटल पर रख दें जिस पर वह विचार करेंगे।
 
तिवारी की पूरी बात नहीं सुने जाने पर कांग्रेस तथा वामदलों के सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन किया। इससे पहले प्रश्नकाल शुरू होते ही कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने यह मुद्दा उठाने की कोशिश की जिस पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि विपक्षी सदस्य जो भी मुद्दा उठाना चाहते हैं अध्यक्ष उन्हें शून्यकाल में उठाने दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सदस्य हर दिन कार्यस्थगन प्रस्ताव दे देते हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार पर आज तक भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS