ब्रेकिंग न्यूज़
स्ट्रीट डांसर 3d में ऐसा होगा श्रद्धा कपूर का लुक, वरुण धवन ने शेयर किया पहला पोस्टरसमस्तीपुर के दलसिंहसराय में महिला से दुष्कर्म के बाद हत्या, गेहूं के खेत में मिला शवराजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी वर्षा, उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में रेड अलर्ट जारीपीएम मोदी ने संसद भवन पर आतंकी हमले में शहीदों को दी श्रद्धांजलिनागरिकता संशोधन विधेयक 2019 को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दी मंजूरीझारखंड विधानसभा चुनाव 2019: तीसरे चरण में 1:00 बजे तक 45% से अधिक मतदानआज उच्‍चतम न्‍यायालय में दुष्‍कर्म और हत्‍या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की एसआईटी जांच की याचिकाओं पर होगी सुनवाईएक संसदीय समिति ने कहा है कि सरकार को रसोई गैस पर अधिक सब्सिडी वाली एक और योजना शुरू करने के बारे में करना चाहिए विचार
राष्ट्रीय
आखिरी बार कोर्ट में बैठे CJI रंजन गोगोई, तीन मिनट ही चली कार्यवाही
By Deshwani | Publish Date: 15/11/2019 1:36:25 PM
आखिरी बार कोर्ट में बैठे CJI रंजन गोगोई, तीन मिनट ही चली कार्यवाही

- अंतिम दिन 3 मिनट में जारी किए 10 नोटिस

- जस्टिस बोबडे होंगे देश के अगले चीफ जस्टिस

नई दिल्ली। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई आज आखिरी बार कोर्ट में बैठे। उनका कार्यकाल 17 नवम्बर तक है, लेकिन अगले दो दिन शनिवार और रविवार होने के चलते कोर्ट में आज ही उनका आखिरी कार्यदिवस था। आज चीफ जस्टिस की कोर्ट में लगभग तीन मिनट ही कोर्ट की कार्यवाही चली। परंपरा के मुताबिक आज वह अगले चीफ जस्टिस एस.ए. बोब्डे के साथ बैठे थे। चीफ जस्टिस ने अपने सामने लिस्टेड सभी दस मामलों में नोटिस जारी किया। उठते वक्त उन्होंने अपने सम्मान में कुछ कह रहे वकीलों को मुस्कुराते हुए धन्यवाद कहा।  
 
चीफ जस्टिस आज दोपहर बाद महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट जाएंगे। चीफ जस्टिस ने चीफ जस्टिस के रुप में अपने कार्यकाल की शुरुआत भी राजघाट जाकर की थी।
 
आज ही शाम साढ़े चार बजे सुप्रीम कोर्ट परिसर में चीफ जस्टिस का विदाई समारोह आयोजित किया गया है। विदाई समारोह के बाद शाम को चीफ जस्टिस आज हाईकोर्ट के 650 जजों और करीब 15 हजार न्यायिक अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग करेंगे और जल्द न्याय दिलाने के लिए उन्हें कठिन परिश्रम करने के लिए उनका उत्साहवर्धन करेंगे।
 
गौरतलब है कि अपने कार्यकाल के अंतिम दिनों में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कई बड़े मामलों में फैसला सुनाया है। जिनमें अयोध्या केस, कर्नाटक विधायक केस, सबरीमाला केस, राफेल विमान सौदे पर पुनर्विचार याचिका, राहुल गांधी पर अवमानना केस आदि का निपटारा किया गया। चीफ जस्टिस गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने सबरीमाला विवाद को सात जजों की बड़ी बेंच को सौंप दिया गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS