ब्रेकिंग न्यूज़
छात्रों और गरीबों के घर में शादी में उपलब्‍ध करायेंगे 25 रुपये किलो प्याज : पप्‍पू यादवप्रेसिडेंसीएल डिबेट में JACP – AISF के उम्‍मीदवार मनीष कुमार ने कहा - जीते तो शिक्षा के साथ सुरक्षा और सम्मान की गारंटी मेरीजम्मू कश्मीर में गांव वापसी कार्यक्रम के दौरान पुलिस और नागरिक प्रशासन की सेवाएं सराहनीय रही: गिरिश चंद्र मुर्मूआज वित्त वर्ष की पांचवी द्वि-मासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करेगा रिजर्व बैंकहैदराबाद दुष्कर्म एवं जघन्य हत्या मामले में संसद सदनों से निकली एक आवाज़ दोषियों को कड़ी सजा की मांगआईसीसी टेस्ट बल्लेबाजी रैंकिंग में फिर से प्रथम स्थान पर भारतीय कप्तान विराट कोहलीअमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने चीन के उइगर मुसलमानों को यातनाएं दिए जाने के खिलाफ पारित किया एक विधायकझारखंड में विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार का आज अंतिम दिन
राष्ट्रीय
राफेल डील मामले पर केंद्र सरकार को मिली बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पुनर्विचार याचिका
By Deshwani | Publish Date: 14/11/2019 4:54:28 PM
राफेल डील मामले पर केंद्र सरकार को मिली बड़ी राहत, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पुनर्विचार याचिका

-सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की कोई जरूरत नहीं, राहुल का माफीनामा स्वीकार 

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने राफेल पर दायर रिव्यू पिटीशन को खारिज कर दिया है। जस्टिस संजय किशन कौल ने फैसला पढ़ते हुए कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की कोई जरूरत नहीं है। कोर्ट की अवमानना के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी के माफीनामे को स्वीकार कर लिया है। कोर्ट ने राहुल गांधी को आगे से ऐसा नहीं करने की चेतावनी दी है। कोर्ट ने कहा कि राहुल गांधी को राजनीतिक बयान पढ़ने के पहले कोर्ट का पूरा आदेश पढ़ लेना चाहिए था। कोर्ट ने इसी टिप्पणी के साथ राहुल गांधी के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का मामला निस्तारित कर दिया। कोर्ट ने पिछले 10 मई को फैसला सुरक्षित रख लिया था।
 
सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील प्रशांत भूषण ने फ्रांस के साथ हुए विमान सौदे को संदेहास्पद बताते हुए जांच की मांग की थी। उधर, केंद्र की ओर से अटार्नी जनरल ने कहा था कि याचिकाकर्ता कोर्ट को गुमराह कर रहे हैं। इसलिए दिसम्बर 2018 में आया फैसला बदलने की जरूरत नहीं है।
 
राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने दायर की थी। मीनाक्षी लेखी की तरफ से कहा गया था कि ये कोर्ट की अवमानना है। राहुल गांधी ने कोर्ट के फैसले की गलत व्याख्या की। राहुल गांधी ने इस मामले में कोर्ट से माफी मांग ली थी।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS