ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड में बिहार सहित अन्य राज्यों से आनेवाली बस की एंट्री नहीं, निजी वाहनों को भी लेना होगा ई-पासमोतिहारी के कोटवा में ट्रक व कार में भीषण टक्कर, एक की मौत चार अन्य घायल, दो की स्थित गंभीरबिहार में सोमवार से लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू, निजी वाहन को पास की जरूरत नहीं, बसों व अन्य वाहनों का किराया नहीं बढ़ाने का निर्देशपाकिस्तानी उच्चायोग के दो ऑफिसर कर रहे थे जासूसी, भारत ने 24 घंटे के भीतर दोनों को देश छोड़ने को कहाप्रवासियों कामगारों से भरी बस मोतिहारी के चकिया में ट्रेक्टर से टकराई, ट्रेक्टर चालक घायल, कई मजदूर चोटिल, जा रही थी सहरसासाजिद-वाजिद जोड़ी के वाजिद खान अब नहीं रहे, कोरोना की वजह से गई जानबिहार में लॉकडाउन के पांचवें चरण की हुई घोषणा, 30 जून तक बढ़ा, कोरोना संक्रमण की संख्या 6,692 हुईजमात उल मुजाहिद्दीन का आतंकी अब्दुल करीम को कोलकता एसटीएफ ने पकड़ा, गया ब्लास्ट मामले में हो रही थी खोज
राष्ट्रीय
राहुल गांधी का अध्यक्ष पद छोड़ना कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी समस्या: सलमान खर्शीद
By Deshwani | Publish Date: 9/10/2019 11:50:54 AM
राहुल गांधी का अध्यक्ष पद छोड़ना कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी समस्या: सलमान खर्शीद

नयी दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने पार्टी की हालत पर चिंता जताते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव हार के बाद राहुल गांधी के इस्तीफे से संकट बढ़ा है। उन्होंने कहा कि हमारी सबसे बड़ी समस्या यह है कि हमारे नेता ही छोड़ गए। वहीं खुर्शीद ने कहा कि पार्टी संघर्ष के ऐसे दौर से गुजर रही है, जिसमें हरियाणा और महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में पार्टी के जीतने की संभावना ही नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ऐसे स्तर पर पहुंच गई है कि केवल आगामी विधानसभा चुनावों में बल्कि यह अपना भविष्य तक नहीं तय कर सकती है।
 
उन्होंने कहा कि राहुल के इस्तीफे के फैसले के कारण पार्टी को लोकसभा चुनाव में मिली हार को लेकर जो जरूरी आत्मनिरीक्षण करना था वो भी नहीं कर पाई। खुर्शीद ने कहा कि हम तो विश्लेषण के लिए भी एकजुट नहीं हो सके और न ही चर्चा कर सके कि आखिर चुनाव में हम लोग क्यों हारे। उन्होंने कहा कि पार्टी के सामने सबसे बड़ी समस्या यह खड़ी हो गई कि किसी भी मंथन से पहले हमारे नेता ने ही हमें छोड़ दिया। बता दें कि लोकसभा चुनाव के बाद यह पहला मौका है जब किसी कांग्रेसी नेता ने खुलकर राहुल गांधी के इस्तीफे के लिए छोड़ जाने जैसे शब्द का इस्तेमाल किया है।
 
पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने राहुल गांधी के इस्तीफे को लेकर कहा कि मैं नहीं चाहता था कि राहुल गांधी इस्तीफा दें। मेरी राय थी कि वह पद पर रहें. मैं मानता हूं कि कार्यकर्या भी यही चाहते थे कि वह बने रहें और नेतृत्व करें। उन्होंने कहा कि यह एक खालीपन जैसा है। सोनिया गांधी ने दखल दिया है, लेकिन साफ संदेश है कि वह एक अस्थायी व्यवस्था के तौर पर हैं। मैं ऐसा नहीं चाहता।
 
गौरतलब है कि कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से सिर्फ 52 सीट ही मिल पाई थी जबकि पीएम नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी ने 2014 में 282 सीटें को मुकाबले 2019 में 303 सीटों पर जीत हासिल की।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS