ब्रेकिंग न्यूज़
कमलेश तिवारी हत्याकांड: बरेली से मौलाना और पीलीभीत से एक युवक हिरासत मेंझारखंड में दस आईपीएस अधिकारियों का तबादला, सौरभ बने रांची के नये सिटी एसपीपाक के परमाणु युद्ध की धमकी पर रक्षा मंत्री राजनाथ का जवाब, कहा- भारत पर बुरी नजर रखने वालों को नहीं छोड़ेगी सेनापलामू में भीषण सड़क हादसा, गर्भवती महिला सहित तीन की मौतजम्मू-कश्मीर: पुंछ जिले में मिले पाक की नापाक हरकतों के सबूत, सेना ने निष्क्रिय किए तीन मोर्टारनोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी से की मुलाकात, PM ने कहा- उपलब्धियों पर देश को गर्वघरेलू कलह में तीन बच्चों के साथ महिला ने डूब कर दी जान, जांच में जुटी पुलिसरांची टेस्ट में भारत की शानदार जीत, दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया
राष्ट्रीय
गांधी परिवार को मिली एसपीजी सुरक्षा में बदलाव, विदेशी दौरों पर अब साए की तरह साथ रहेंगे अधिकारी
By Deshwani | Publish Date: 7/10/2019 3:25:20 PM
गांधी परिवार को मिली एसपीजी सुरक्षा में बदलाव, विदेशी दौरों पर अब साए की तरह साथ रहेंगे अधिकारी

नई दिल्ली। सरकार ने विशेष सुरक्षा बल (एसपीजी) से जुड़े नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसके तहत सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति की विशेष विदेश यात्रा के समय भी जवान उनके साथ रहेंगे। इसे एक तरफ सुरक्षा को अधिक सशक्त बनाने के तौर पर देखा जा रहा, वहीं दूसरी ओर यह भी माना जा रहा है कि इसके जरिए सरकार गांधी परिवार के विदेशी दौरों पर नजर रखना चाहती है।

एसपीजी सुरक्षा पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिजनों को दी जाती है। वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा गांधी परिवार, जिसमें सोनिया गांधी व उनके बेटे-बेटी राहुल और प्रियंका गांधी शामिल हैं एसपीजी के दायरे में आते हैं। इस संबंध में गांधी परिवार को सूचित कर दिया गया है। उनसे कहा गया है कि आवश्यक सुरक्षा के तहत हमेशा एसपीजी के जवान विदेशी दौरों के दौरान भी उनके साथ रहेंगे। अगर इस प्रावधान को स्वीकार नहीं किया जाता तो सुरक्षा कारणों के चलते उनके विदेशी दौरों को कम किया जा सकता है।

वर्तमान में गांधी परिवार विदेशी यात्राओं के दौरान अपने प्रथम गंतव्य स्थल तक एसपीजी के साथ रहते हैं। इसके बाद एसपीजी को वापस भेज दिया जाता है। सरकार का कहना है कि इससे उनकी सुरक्षा को खतरा हो सकता है। हालांकि इस दौरान भारतीय मिशन स्थानीय पुलिस की सहायता से उनको सुरक्षा मुहैया कराता है।

एसपीजी की सुरक्षा का प्रावधान 1985 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद तैयार किया गया था। 1989 में में वीपी सिंह सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के बाद किसी सरकार ने गांधी परिवार से एसपीजी सुरक्षा वापस नहीं ली है। नए दिशा-निर्देशों के अनुसार गांधी परिवार को अपनी विदेश यात्रा का संपूर्ण विवरण देना होगा। इसके अलावा उनसे पहले की गई यात्राओं का जानकारी भी मांगी गई है। विदेशी दौरों के दौरान सुरक्षा का प्रावधान पहले भी रहा है लेकिन इसके वित्तीय प्रभावों को देखते हुए सरकार ने इसका दोबारा अवलोकन किया था।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS