ब्रेकिंग न्यूज़
कमलेश तिवारी हत्याकांड: बरेली से मौलाना और पीलीभीत से एक युवक हिरासत मेंझारखंड में दस आईपीएस अधिकारियों का तबादला, सौरभ बने रांची के नये सिटी एसपीपाक के परमाणु युद्ध की धमकी पर रक्षा मंत्री राजनाथ का जवाब, कहा- भारत पर बुरी नजर रखने वालों को नहीं छोड़ेगी सेनापलामू में भीषण सड़क हादसा, गर्भवती महिला सहित तीन की मौतजम्मू-कश्मीर: पुंछ जिले में मिले पाक की नापाक हरकतों के सबूत, सेना ने निष्क्रिय किए तीन मोर्टारनोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने प्रधानमंत्री मोदी से की मुलाकात, PM ने कहा- उपलब्धियों पर देश को गर्वघरेलू कलह में तीन बच्चों के साथ महिला ने डूब कर दी जान, जांच में जुटी पुलिसरांची टेस्ट में भारत की शानदार जीत, दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया
राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री मोदी और हसीना की वार्ता के बाद तीन परियोजनाएं शुरू, दोनों देशों के बीच हुए 7 महत्वपूर्ण समझौते
By Deshwani | Publish Date: 5/10/2019 4:24:31 PM
प्रधानमंत्री मोदी और हसीना की वार्ता के बाद तीन परियोजनाएं शुरू, दोनों देशों के बीच हुए 7 महत्वपूर्ण समझौते

नई दिल्ली। भारत और बांग्लादेश ने अपने संबंधों को विस्तार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच वार्ता के बाद आज सात समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए। इस दौरान एलपीजी निर्यात समेत तीन परियोजनाओं का शुभारंभ भी किया गया। इनमें से एक परियोजना बांग्लादेश से एलपीजी के आयात से संबंधित है। इस आयातित एलपीजी का भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में वितरण किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘आज की वार्ता भारत और बांग्लादेश के बीच संबंधों को और मजबूत करेगी।'' दोनों प्रधानमंत्रियों ने कौशल विकास संस्थान और ढाका के रामकृष्ण मिशन में एक छात्रावास का उद्घाटन भी किया।

प्रधानमंत्री मोदी और हसीना के बीच वार्ता के बाद दोनों देशों ने सात समझौतों  हुए जो जल संसाधन, युवा मामलों, संस्कृति, शिक्षा और तटीय निगरानी से संबंधित है। पीएम मोदी ने कहा, ‘‘ मुझे खुशी है कि प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ तीन और द्विपक्षीय परियोजनाओं का उद्घाटन करने का मौका मुझे मिला है। पिछले एक साल में, हमने वीडियो लिंक से 9 परियोजनाएं पेश की है। आज की तीन परियोजनाओं समेत एक साल में हमने एक दर्जन संयुक्त परियोजनाएं शुरू की हैं। इस उपलब्धि पर मैं दोनों देशों के अधिकारियों और सभी नागरिकों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं।''
 


 

मोदी और शेख हसीना की वार्ता के बाद दोनों देशों ने सात समझौतों और करारों पर हस्ताक्षर किए, जिनमें बांग्लादेश के चटगांव और मोंगरा बंदरगाहों के उपयोग संबंधी करार शामिल हैं। अन्य करारों में भारत द्वारा अंतरदेशीय फैणी नदी में 1.82 क्युसेक पानी का उपयोग करने का करार शामिल है, जिसके जरिए भारत के त्रिपुरा राज्य में सबरूम नगर को पेयजल आपूर्ति होगी। एक करार के जरिए दोनों देशों ने समुद्र तटीय क्षेत्र की निगरानी प्रणाली कायम करने का भी निश्चय किया।

मोदी ने इस अवसर पर कहा कि बांग्लादेश से रसोई गैस आपूर्ति का लाभ दोनों देशों को मिलेगा। इससे पड़ोसी देश में निर्यात, आमदनी और रोजगार बढ़ेगा। रसोई गैस की आपूर्ति की दूरी 1500 किमी कम होगी, जिससे आर्थिक बचत होगी और पर्यावरण को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि पेशेवर कौशल विकास संस्थान की स्थापना से बांग्लादेश के उद्योगिक विकास के लिए जरूरी प्रशिक्षित मानव संसाधन तैयार हो सकेगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नवनिर्मित विवेकानंद छात्रावास में विश्वविद्यालय के 100 छात्र और शोधकर्ता रहने की व्यवस्था है। मोदी ने कहा कि भारत बांग्लादेश के साथ अपनी साझेदारी को बहुत प्राथमिकता देता है। दोनों देशों की मैत्री और सहयोग पूरी दुनिया के लिए एक उदाहरण है।

image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS