ब्रेकिंग न्यूज़
पूर्वी चंपारण के कई इलाकों में बेमौसम बारिश और बर्फबारी होने से बढ़ी ठंड, दिखा शिमला जैसा नजाराबेतिया में मूर्छितावस्था में अधमरी महिला मिली, ग्रामीणों ने मझौलिया पीएचसी में कराया भर्ती करायासाबरमती आश्रम में राष्ट्रपति ट्रंप ने पत्नी मेलानिया के साथ चरखा चलाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित कीचीन से कच्चे माल की आपूर्ति में व्यवधान के संबंध में वित्त मंत्री ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाईजम्मू-कश्मीर में पंचायत उपचुनाव सुरक्षा मुद्दों और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की अनिच्छा के कारण स्थगितअशरफ गनी अफगानिस्तान के नए राष्ट्रपति चुने गएबिहार के गया में कोरोना वायरस के एक संदिग्ध मरीज को देखरेख के लिए अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में कराया गया भर्तीऔरंगाबाद में रफीगंज-शिवगंज पथ पर तेज रफ्तार ट्रक ने ऑटो में मारी टक्कर, दो मासूमों सहित 10 लोगों की मौत
राष्ट्रीय
मोहर्रम के मौके पर कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध, सुरक्षा व्यवस्था कड़ी
By Deshwani | Publish Date: 10/9/2019 2:40:45 PM
मोहर्रम के मौके पर कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध, सुरक्षा व्यवस्था कड़ी

कश्मीर। कश्मीर घाटी में मोहर्रम के मौके पर आज हिंसक प्रदर्शन व किसी बड़े आतंकी हमले की संभावना के मद्देनजर प्रशासन ने सुरक्षाबलों को अलर्ट पर रखा है। इस दौरान कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लागू करके सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। आतंकी हमले की संभावना के चलते श्रीनगर की सड़कों पर जुलूस और ताजिया निकालने की इजाजत नहीं दी गई है। मुस्लिम समुदाय के लोगों से इमामबाड़ा में ही ताजिया निकालने को कहा गया है। लाल चौक और शिया बहुल इलाकों के रास्तों पर आम आवाजाही को पूरी तरह प्रतिबंधित रखा गया।
 
राज्य प्रशासन ने कश्मीर घाटी में कानून व्यवस्था बनाए रखने व मोहर्रम के जुलूस के दौरान दंगे भड़कने की आशंका के चलते संवेदनशील इलाकों और मुख्य सड़कों व हाई-वे पर मोहर्रम के जुलूस की अनुमति नहीं दी है। कश्मीर के ज्यादातर हिस्सों में कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लागू किए गए हैं। इस दौरान श्रीनगर के मुख्य लाल चौक व इसके साथ लगने वाले सभी रास्तों पर बैरिकेट तथा लोहे की तारे लगाकर मार्ग को अवरूद्ध किया गया है ताकि किसी भी स्थिति से निपटा जा सके। 
 
इसी बीच डाउन टाउन, सोपोर, पट्टन, बारामुला, बडगाम, मागाम गांदरबल, पुलवामा, अनंतनाग और कुलगाम में मंगलवार सुबह से ही सख्ती से प्रतिबंध लागू किए गए हैं जिसका सामान्य जनजीवन पर असर दिखाई दे रहा है। खुफिया एजेंसियों द्वारा मोहर्रम के दौरान हिंसा फैलाने की खुफिया जानकारी देने के बाद रविवार से ही कश्मीर घाटी में सख्ती से प्रतिबंध लागू किए गए हैं। ताजिया के जुलूस के दौरान आतंकी लोगों पर हमला कर सकते हैं जिसके चलते इंटेलिजेंस को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है।
 
इस दौरान मंगलवार को कश्मीर घाटी में सभी दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान, सरकारी कार्यालय तथा शिक्षा संस्थान बंद रहे। सड़कों पर किसी प्रकार का कोई भी वाहन चलता नहीं दिखाई दे रहा है जिसके चलते सड़कें सूनी पड़ी हुई हैं। इस दौरान पूरे जम्मू कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद है। 
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS