ब्रेकिंग न्यूज़
नफरत को खत्म करने, संविधान को बचाने, एन आर सी, सी ए ए जैसे काले कानून के खिलाफ भारत के गंगा-जमुनी तहजीब का नमूना है शाहीन बाग: पप्पू यादवधार्मिक कार्यक्रम में जा रहे हजारों भारतीयों को नेपाल ने करोना वायरस की आशंका से गुरुवार की रात्रि रोका, वार्ता के बाद आज मिली एन्ट्रीपुलवामा हमले के शहीदों को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी श्रद्धांजलिआगर- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर मोतिहारी की बस की भीषण दुर्घटना में मृतकों के नाम फिरोजाबाद प्रशासन ने मोतिहारी एसपी को पत्र लिखकर दिएरक्सौल में लुधियाना की नाबालिक लड़की को प्रेम जाल में फंसा कर विवाह करने के आरोप में एक युवक गिरफ्तारऔरंगाबाद में 9वी की छात्रा की हत्या, छात्रा का शव उसके ही क्लास रूम में मिलाभारत को हराकर पहली बार बांग्लादेश ने अंडर-19 क्रिकेट विश्वकप जीतापटना के गांधी मैदान से सटे इलाके में ब्लास्ट होने से करीब आधा दर्जन लोग घायल
राष्ट्रीय
जम्‍मू-कश्‍मीर के मौजूदा हालात पर केंद्रीय गृह मंत्री शाह और डोभाल ने की उच्चस्तरीय बैठक
By Deshwani | Publish Date: 19/8/2019 4:38:36 PM
जम्‍मू-कश्‍मीर के मौजूदा हालात पर केंद्रीय गृह मंत्री शाह और डोभाल ने की उच्चस्तरीय बैठक

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद घाटी में मौजूदा हालात की समीक्षा के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल ने गृह सचिव राजीव गाबा समेत खुफिया एजेंसियों के आला अधिकारियों के साथ यहां एक अहम बैठक की।

 
सूत्रों के मुताबिक, बैठक में जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात पर चर्चा के साथ ही आम नागरिकों की रोजमर्रा की जरूरतों और उनको किसी तरह की परेशानी न हो, इसका ख्याल रखते हुए सुरक्षा बलों और खुफिया एजेंसियों को सतर्क रहने को कहा गया है। इसके साथ ही घाटी में माहौल बिगाड़ने के लिए अफवाह उड़ाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भी निर्देश दिया गया है। सूत्रों के अनुसार सुरक्षा एजेंसियों से कहा गया है कि वे अफवाह उड़ाने वालों से सख्ती से निपटने के साथ ही उसकी वास्तविकता को भी जल्द से जल्द उजागर करें, ताकि आम कश्मीरी किसी भ्रम जाल में न फंस पाए।
 
बैठक में आम नागरिकों की रोजमर्रा की जरुरतों के सामान, एटीएम में नकदी की उपलब्धता, जरुरी वस्तुओं की पर्याप्त उपलब्धता पर भी जोर दिया गया है। इस उच्चस्तरीय बैठक में सुरक्षा एजेंसियों और खुफिया विभाग के आला अधिकारियों ने घाटी से मिली रिपोर्ट भी पेश की। रिपोर्ट के आधार पर वहां के हालात की समीक्षा की गई और आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए गए।
 
बताया जा रहा कि इस बैठक में जम्मू कश्मीर में लागू कर्फ्यू में दी गई ढील के बाद के हालात पर भी चर्चा की गई। सोमवार से घाटी में जहां संचार व्यवस्था पर लगी रोक को हटाया गया है, वहीं स्कूल भी खोले गए। सूत्रों की मानें तो सरकार हालात की समीक्षा के बाद से अगले कुछ दिनों में सभी पाबंदियों को हटाने पर विचार कर रही है। साथ ही सुरक्षा बलों को पाकिस्तान की ओर से होने वाली घुसपैठ और सीजफायर की घटनाओं का मुहंतोड़ जवाब देने को कहा गया है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS