ब्रेकिंग न्यूज़
श्री कृष्ण महोत्सव के रंग में रंगे स्कूली बच्चे, कृष्ण और राधा बन कर पहुंचे स्कूलस्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रंजीत के समर्थन में महिलाओं ने हाथों में चूड़ी लेकर किया बाजार भ्रमणपताही पुलिस ने पांच सौ बोतल लेमन फ्लेवर नेपाली कस्तूरी शराब किया बरामद, शराब माफिया फरारकिशोरावस्था में होने वाले बदलाव से जुड़ी भ्रांतियां मात्र एक क्लिक में होंगे दूर, स्वास्थ्य विभाग ने लांच किया साथिया सलाह मोबाइल एपपेरिस में 370 पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- अब भारत में कुछ भी टेम्परेरी नहीं होगानेपाल में जन्माष्टमी की धूम, ललितपुर के कृष्ण मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाबघाटी में अब तेज़ी से सामान्य होते जा रहे हैं हालात, खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का खौफशार्ट सर्किट से स्कूल बस में लगी आग, लपटों के बीच बच्चों को सुरक्षित निकाला गया
राष्ट्रीय
प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान के एयरस्पेस का नहीं करेंगे इस्तेमाल, ओमान-ईरान के रास्ते जाएंगे किर्गिस्तान
By Deshwani | Publish Date: 12/6/2019 5:48:07 PM
प्रधानमंत्री मोदी पाकिस्तान के एयरस्पेस का नहीं करेंगे इस्तेमाल, ओमान-ईरान के रास्ते जाएंगे किर्गिस्तान

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (एसपीओ) की बिश्केक (किर्गीस्तान) में आयोजित बैठक में भाग लेने के लिए पाकिस्तान की वायुसीमा का उपयोग नहीं करेंगे। प्रधानमंत्री का विशेष विमान ओमान, ईरान और मध्य एशिया के देशों से होते हुए बिश्केक पहुंचेगा।

 
प्रधानमंत्री को एससीओ की दो दिवसीय शिखर वार्ता बैठक में भाग लेने के लिए गुरुवार को विश्केक जाना है। विदेश मंत्रालय के वक्तव्य के अनुसार भारत सरकार ने प्रधानमंत्री के विशेष विमान के लिए दो विकल्प तय किए थे। अब यह फैसला किया गया है कि विशेष विमान बिश्केक जाने के लिए ओमान, ईरान और मध्य एशिया के देशों की वायु सीमा से होकर जाएगा।
 
पहले यह अनुमान लगाया जा रहा था कि प्रधानमंत्री का विमान पाकिस्तान की वायुसीमा से होते हुए गतंव्य तक जाएगा। यह रास्ता सबसे छोटा था। विदेश मंत्रालय के नए फैसले को पाकिस्तान के लिए भारत की ओर से एक झटका माना जा रहा है। इसके पहले विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने कहा था कि प्रधानमंत्री के विमान के लिए पाकिस्तान से अनुरोध किया गया था। ऐसी रिपोर्ट भी थी कि पाकिस्तान सरकार ने इस सिद्धांत रूप में इसकी मंजूरी भी दे दी थी।
 
उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने बालाकोट में भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद अपनी वायुसीमा को गत 26 फरवरी को बंद कर दिया था। बाद में उसने कुछ वायु मार्ग धीरे-धीरे खोले थे। प्रधानमंत्री के यात्रा मार्ग के बारे में नागरिक उड्डयन विभाग को आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं।
 
एससीओ की बिश्केक शिखरवार्ता में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भी भाग लेंगे। बैठक से इतर मोदी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतीन और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। मोदी और इमरान खान के बीच वार्ता का कोई कार्यक्रम नहीं है।
 
बैठक में पीएम मोदी चीन और रूस के नेताओं के साथ होने वाली वार्ता में अमेरिकी प्रशासन की ओर से लगाए गए व्यापार प्रतिबंधों पर विशेष रूप से चर्चा हो सकती है। मोदी शिखरवार्ता में आतंकवाद के विश्वव्यापी खतरे के बारे में सदस्य देशों से सामुहिक रूप से कार्रवाई करने का आग्रह कर सकते हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS