ब्रेकिंग न्यूज़
पश्चिम चम्पारण के बगहा में नक्सली-एसटीएफ मुठभेड़ में 4 नक्सली हुए ढेरसमस्तीपुर : बेखौफ अपराधियों ने घर में घुस युवक को गोली मार की हत्यानेपाल पुलिस ने गांजा के साथ एक युवक को किया गिरफ्तारसमस्तीपुर : तीन बैंक अधिकारी सहित 21 कोरोना संक्रमित, संख्या पहुंची 380मोतिहारी के चकिया में एक ही मुहल्ले के पांच किशोरों की डूबकर हुई मौत, एनडीआरफ की आठ सदस्यीय टीम ने शवों को ढूढ़ा, मातमकोरोना बीमारी से जंग के लिए नहीं उठे उचित कदम : शरद यादवप्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना को नवंबर तक बढाने की मंत्रिमंडल ने दी मंजूरीराज्यों के चिकित्सकों को एम्स विशेषज्ञ कोविड-19 के बारे में मार्गदर्शन उपलब्ध कराएंगे
राष्ट्रीय
हिरासत में मौत मामला: सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की याचिका किया खारिज
By Deshwani | Publish Date: 12/6/2019 2:29:07 PM
हिरासत में मौत मामला: सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की याचिका किया खारिज

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट से बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने तीन दशक पहले हिरासत में मौत के एक मामले में आरोपित गुजरात के पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की कुछ अतिरिक्त गवाहों को बुलाने की याचिका खारिज कर दी है। 

 
संजीव भट्ट ने गुजरात हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुनवाई के दौरान गुजरात सरकार ने कहा कि मामले में ट्रायल पूरा हो चुका है और ट्रायल कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। गुजरात सरकार ने कहा कि ट्रायल कोर्ट 20 जून को फैसला सुनाएगा, लिहाजा अब गवाहों को समन करना ठीक नहीं होगा। 
 
कोर्ट ने कहा कि अब इस मामले में दोबारा ट्रायल शुरू नहीं किया जा सकता है। हाईकोर्ट ने संजीव भट्ट की अतिरिक्त गवाहों को बुलाने की मांग को खारिज कर दिया था। 1989 में एक आरोपित की भट्ट की हिरासत में मौत हो गई थी। उस समय संजीव भट्ट गुजरात के जामनगर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS