ब्रेकिंग न्यूज़
श्री कृष्ण महोत्सव के रंग में रंगे स्कूली बच्चे, कृष्ण और राधा बन कर पहुंचे स्कूलस्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रंजीत के समर्थन में महिलाओं ने हाथों में चूड़ी लेकर किया बाजार भ्रमणपताही पुलिस ने पांच सौ बोतल लेमन फ्लेवर नेपाली कस्तूरी शराब किया बरामद, शराब माफिया फरारकिशोरावस्था में होने वाले बदलाव से जुड़ी भ्रांतियां मात्र एक क्लिक में होंगे दूर, स्वास्थ्य विभाग ने लांच किया साथिया सलाह मोबाइल एपपेरिस में 370 पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- अब भारत में कुछ भी टेम्परेरी नहीं होगानेपाल में जन्माष्टमी की धूम, ललितपुर के कृष्ण मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाबघाटी में अब तेज़ी से सामान्य होते जा रहे हैं हालात, खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का खौफशार्ट सर्किट से स्कूल बस में लगी आग, लपटों के बीच बच्चों को सुरक्षित निकाला गया
राष्ट्रीय
हिरासत में मौत मामला: सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की याचिका किया खारिज
By Deshwani | Publish Date: 12/6/2019 2:29:07 PM
हिरासत में मौत मामला: सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की याचिका किया खारिज

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट से बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने तीन दशक पहले हिरासत में मौत के एक मामले में आरोपित गुजरात के पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट की कुछ अतिरिक्त गवाहों को बुलाने की याचिका खारिज कर दी है। 

 
संजीव भट्ट ने गुजरात हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। सुनवाई के दौरान गुजरात सरकार ने कहा कि मामले में ट्रायल पूरा हो चुका है और ट्रायल कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है। गुजरात सरकार ने कहा कि ट्रायल कोर्ट 20 जून को फैसला सुनाएगा, लिहाजा अब गवाहों को समन करना ठीक नहीं होगा। 
 
कोर्ट ने कहा कि अब इस मामले में दोबारा ट्रायल शुरू नहीं किया जा सकता है। हाईकोर्ट ने संजीव भट्ट की अतिरिक्त गवाहों को बुलाने की मांग को खारिज कर दिया था। 1989 में एक आरोपित की भट्ट की हिरासत में मौत हो गई थी। उस समय संजीव भट्ट गुजरात के जामनगर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात थे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS