ब्रेकिंग न्यूज़
कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को बर्खास्त करने के लिए सीएम योगी ने राज्यपाल से की सिफारिशछत्तीसगढ: सड़क हादसे में छह लोगों की मौत, पांच की हालत गंभीरब्राजील के बार में भीषण गोलीबारी, 11 लोगों की मौतशेयर बाजार पर भी दिखा एक्जिट पोल का असर, सेंसेक्स में आया 725 अंक का उछालदुनिया के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र पर लोगों में दिखा वोटिंग का उत्‍साह, पड़े 70 वोटकाला हिरण शिकार मामला: राजस्थान हाई कोर्ट का सोनाली बेंद्रे, सैफ अली खान और तब्बू को नोटिसएग्जिट पोल 2019: बीजेपी ने कहा- लोगों ने मोदी के अच्छे प्रशासन को दिया पुरस्कार दिया... बुराइयां करने वाले विपक्ष को लगाया झटका...लोकसभा चुनाव- 2019: एग्जिट पोल का दावा: एक बार फिर मोदी सरकार, पांच सर्वे में एनडीए को 300 से ज्‍यादा सीटें मिलने की उम्मीद
राष्ट्रीय
टिक टॉक ऐप पर 24 तक फैसला करे मद्रास हाईकोर्ट, वर्ना हट जाएगा बैन: सुप्रीम कोर्ट
By Deshwani | Publish Date: 22/4/2019 5:55:35 PM
टिक टॉक ऐप पर 24 तक फैसला करे मद्रास हाईकोर्ट, वर्ना हट जाएगा बैन: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। टिक टॉक ऐप पर रोक के मामले पर सुनवाई के दौरान ऐप बनाने वाली कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि मद्रास हाईकोर्ट ने बिना हमारा पक्ष सुने रोक लगा दी है। हर दिन करोड़ों का नुकसान हो रहा है।

 
सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट को निर्देश दिया कि वो इस मामले पर 24 अप्रैल तक फैसला करे। कोर्ट ने ऐप के निर्माता को निर्देश दिया कि आप हाईकोर्ट में अपना पक्ष रखें। अगर उस दिन हाईकोर्ट ने कोई आदेश नहीं दिया तो रोक हटी हुई मानी जाएगी ।
 
15 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने टिक टॉक ऐप पर मद्रास हाईकोर्ट के बैन लगाने के आदेश पर रोक लगाने से मना कर दिया था। कोर्ट ने ऐप के निर्माता कंपनी से कहा था कि हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान अपना पक्ष रखें। मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच के बैन के आदेश के खिलाफ ऐप निर्माता कंपनी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी।
 
याचिकाकर्ता की ओर से वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा था कि इस ऐप को एक बिलियन बार डाउनलोड किया जा चुका है लेकिन हाईकोर्ट ने इसे एक वकील की याचिका पर इसकी डाउनलोडिंग पर बैन लगा दिया। हाईकोर्ट ने हमें अपनी बात रखने का मौका भी नहीं दिया । ऐप बनाने वाली कंपनी ने मद्रास हाईकोर्ट के आदेश पर रोक से मांग की है। मद्रास हाईकोर्ट ने सरकार को निर्देश दिया था कि ऐप की डाउनलोडिंग पर रोक लगे। मीडिया से भी कहा था कि इस ऐप से बने वीडियो का प्रसारण न करे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS