ब्रेकिंग न्यूज़
अंतरराष्ट्रीय योग दिवसः योग के रंग में रंगी रांची, प्रधानमंत्री मोदी कल 50 हजार लोगों के साथ करेंगे योगजमुई में राजद नेता की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिसशेयर बाजार: फ़ेडरल रिजर्व ने दिया भविष्य में ब्याज दर कटौती का संकेत, सेंसेक्स 489 अंक उछलाप्रशासन की अपील के बावजूद अस्पताल में नेता-अभिनेताओं के दौरे, शरद 30 लोगों के साथ पहुंचेरोशन फैमिली के सपॉर्ट में आई सुजैन, कहा- मैं रिक्वेस्ट करूंगी कि ऐसे मुश्किल वक्त में परिवार का सम्मान करेंतेंदुलकर ने ट्वीट कर कहा- धवन के दर्द को महसूस कर सकता हूं, पंत को दी शुभकामनाएंएएन-32 विमान हादसा: सभी 13 वायु सैनिकों के शव बरामदसुनील पांडेय के भाइयों के ठिकानों पर एनआईए का छापा, करीबियों पर भी कसा शिकंजा
राष्ट्रीय
मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्‍कार आज पणजी में, बीजेपी के सभी प्रोग्राम रद्द, राष्‍ट्रीय शोक घोष‍ित
By Deshwani | Publish Date: 18/3/2019 10:15:19 AM
मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्‍कार आज पणजी में, बीजेपी के सभी प्रोग्राम रद्द, राष्‍ट्रीय शोक घोष‍ित

पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का अंतिम संस्कार आज शाम पणजी के मिरामर में किया जाएगा। बीजेपी के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। चार बार मुख्यमंत्री और पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर (63) फरवरी 2018 से ही अग्नाशय संबंधी बीमारी से जूझ रहे थे। पिछले एक साल से बीमार चल रहे बीजेपी के वरिष्ठ नेता का स्वास्थ्य दो दिन पहले बहुत बिगड़ गया था। 
 
 
सूत्रों ने बताया कि पूर्व रक्षा मंत्री पर्रिकर शनिवार देर रात से ही जीवनरक्षक प्रणाली पर थे। राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री का निधन रविवार शाम छह बजकर चालीस मिनट पर हुआ।
 
 
प्रवक्ता ने बताया कि पर्रिकर का पार्थिव शरीर आज सुबह साढ़े नौ से साढ़े दस बजे तक बीजेपी मुख्यालय में रखा जाएगा। उसके बाद पार्थिव शरीर को कला अकादमी ले जाया जाएगा।
 
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट किया है, 'गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन की सूचना पाकर शोकाकुल हूं।' उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जीवन में वह ईमानदारी और समर्पण की मिसाल हैं। गोवा और भारत की जनता के लिए उनके काम को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा।
 
पर्रिकर के निधन पर शोक जताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट किया है, 'श्री मनोहर पर्रिकर बेमिसाल नेता थे. एक सच्चे देशभक्त और असाधारण प्रशासक थे, सभी उनका सम्मान करते थे. देश के प्रति उनकी निस्वार्थ सेवा पीढ़ियों तक याद रखी जाएगी. उनके निधन से बहुत दुखी हूं। उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदनाएं। शांति।'   
 
 
केंद्र सरकार ने उनके निधन पर आज राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी, केंद्र शासित प्रदेशों और राज्य की राजधानियों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। आज सुबह 10 बजे केंद्रीय मंत्रिमंडल की विशेष बैठक होगी। 
 
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के तौर पर शुरुआत कर गोवा के मुख्यमंत्री और देश के रक्षा मंत्री बनने वाले पर्रिकर की छवि हमेशा ही बहुत सरल और सामान्य व्यक्ति की रही।
 
वह सर्वस्वीकार्य नेता थे. ना सिर्फ भाजपा बल्कि दूसरे दलों के लोग भी उनका मान-सम्मान करते थे. उन्होंने गोवा में भाजपा को मजबूत आधार प्रदान किया. लंबे समय तक कांग्रेस का गढ़ रहने वाले गोवा में क्षेत्रीय संगठनों की पकड़ के बावजूद भाजपा उनके कारण मजबूत हुई.
 
 
मध्यमवर्गिय परिवार में 13 दिसंबर, 1955 में जन्मे पर्रिकर ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में करियर शुरू किया। यहां तक कि आईआईटी बंबई से स्नातक करने के बाद भी वह संघ से जुड़े रहे।
 
सक्रिय राजनीति में पर्रिकर का पदार्पण 1994 में पणजी सीट से भाजपा टिकट पर चुनाव जीतने के साथ हुआ। वह 2014 से 2017 तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कैबिनेट में रक्षा मंत्री रहे।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS