राष्ट्रीय
राममंदिर मुद्दे पर अपनी भूमिका स्पष्ट करें कांग्रेस: अमित शाह
By Deshwani | Publish Date: 9/2/2019 5:27:07 PM
राममंदिर मुद्दे पर अपनी भूमिका स्पष्ट करें कांग्रेस: अमित शाह

पूणे। आगामी लोकसभा चुनाव की तारीखों का अभी ऐलान नहीं हुआ है लेकिन भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता देश के अलग-अलग इलाकों में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। इसी कड़ी में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने महाराष्ट्र के पुणे में शक्ति केंद्र सम्मेलन को संबोधित करते हुए जमकर राहुल गांधी और कांग्रेस की नीतियों की आलोचना की। 

 
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि पार्टी अयोध्या में राममंदिर का निर्माण जन्मभूमि पर ही करने के लिए संकल्पित है, लेकिन इस विषय पर कांग्रेस अपनी भूमिका अभी तक स्पष्ट नहीं की है। 
 
भाजपा अध्यक्ष शाह ने आज पुणे में शक्ति कला केन्द्र में आयोजित पार्टी के शक्ति केन्द्र प्रमुखों के सम्मेलन में कहा कि लोकसभा के आगामी चुनाव देश को नई दिशा देने वाले होंगे। भाजपा अन्य दलों से अलग है। यह नेताओं की नहीं, कार्यकर्ताओं की पार्टी है। कार्यकर्ताओं के बल पर भाजपा ने हर चुनाव में बढ़त हासिल किया है, इसलिए यहां कार्यकर्ता मेहनत कर भाजपा की 45 सीटों को जीत कर दें, जिससे देश में एक बार फिर मोदी के नेतृत्व में देश को नई दिशा मिल सके। 
 
सम्मेलन में केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, प्रदेश अध्यक्ष रावसाहेब दानवे, सांसद अमर साबले, अनिल शिरोले, शहराध्यक्ष योगेश गोगावले आदि उपस्थित थे। इस सम्मेलन में पुणे, शिरूर और मावल संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों के बूथ स्तर के कार्यकर्ता जुटे थे। 
 
शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि उनको (राहुल) यही नहीं पता है कि बटाटा (आलू) जमीन में पैदा होता है, या जमीन के ऊपर। कांग्रेस का मिशन ओआरओपी मतलब ओनली राहुल ओनली प्रियंका है। इसलिए कांग्रेस को देश की चिंता नहीं है। इससे पहले मौनीबाबा की सरकार थी, इसलिए देश में भारी मात्रा में घुसपैठिए घुस गए थे। प्रधानमंत्री मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक कर घुसपैठियों को करारा जवाब दिया। पिछले साढ़े चार साल में 40 लाख से ज्यादा घुसपैठियों को देश से निकाला जा चुका है। कश्मीर से कन्या कुमारी तक घुसपैठियों पर कार्रवाई जारी है। 
 
भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आगामी चुनाव में यदि विफल हुए तो देश गलत लोगों के हाथ में चला जाएगा और विकास रुक जाएगा। जातिवाद और परिवारवाद को नकारते हुए विकास को महत्व देना जरूरी है। कांग्रेस ने पिछले 10 वर्षों में 53 हजार करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया था, जबकि भाजपा ने पांच वर्षों में 75 हजार करोड़ रुपये किसानों का कर्ज माफ किया है। भाजपा हर वर्ग का विकास कर रही है। 
 
सम्मेलन को मुख्यमंत्री फडणवीस ने भी संबोधित किया। उन्होंने दावा किया कि भाजपा राज्य में 43 सीटें जीतेगी। शरद पवार को सीधे चुनौती देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बार भाजपा बारामती संसदीय क्षेत्र भी जीतेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली बार बारामती में भाजपा कुछ ही वोटों से पराजित हुई थी, लेकिन इस बार यह सीट भारी मतों से भाजपा जीतने वाली है।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS