ब्रेकिंग न्यूज़
श्री कृष्ण महोत्सव के रंग में रंगे स्कूली बच्चे, कृष्ण और राधा बन कर पहुंचे स्कूलस्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रंजीत के समर्थन में महिलाओं ने हाथों में चूड़ी लेकर किया बाजार भ्रमणपताही पुलिस ने पांच सौ बोतल लेमन फ्लेवर नेपाली कस्तूरी शराब किया बरामद, शराब माफिया फरारकिशोरावस्था में होने वाले बदलाव से जुड़ी भ्रांतियां मात्र एक क्लिक में होंगे दूर, स्वास्थ्य विभाग ने लांच किया साथिया सलाह मोबाइल एपपेरिस में 370 पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- अब भारत में कुछ भी टेम्परेरी नहीं होगानेपाल में जन्माष्टमी की धूम, ललितपुर के कृष्ण मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाबघाटी में अब तेज़ी से सामान्य होते जा रहे हैं हालात, खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का खौफशार्ट सर्किट से स्कूल बस में लगी आग, लपटों के बीच बच्चों को सुरक्षित निकाला गया
राष्ट्रीय
ईवीएम हैकिंग का दावा बकवास, बिना सबूत देश पर बड़ा इल्जाम लगाया गया: रविशंकर प्रसाद
By Deshwani | Publish Date: 22/1/2019 4:30:03 PM
ईवीएम हैकिंग का दावा बकवास, बिना सबूत देश पर बड़ा इल्जाम लगाया गया: रविशंकर प्रसाद

नई दिल्ली। ईवीएम हैकिंग पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर बड़ा हमला किया। उन्होंने कहा कि आशीष रे नेशनल हेरल्ड में लिखते हैं और वो राहुल गांधी से लंदन में मिले थे। कल लंदन में जिस कथित हैकर की प्रेस कॉन्फ्रेंस थी उसके वो आयोजक थे। आशीष रे समर्पित कांग्रेसी और वो स्वभाविक तौर पर बीजेपी का विरोध करते हैं। भारत के लोकतंत्र और चुनाव आयोग को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। 

 
आशीष रे नेशल हेरल्ड के लेख में राहुल गांधी की जमकर तारीफ की थी। आप पीसी में देख सकते हैं कि चेहरा ढंककर हैकर आया था। वो कहते हैं लंदन में कल एक सर्कस हुआ था जिसकी प्रायोजक कांग्रेस थी। हैकर ने ईवीएम हैकिंग के कोई सबूत नहीं दिये। बिना सबूत देश पर इतना बड़ा इल्जाम लगाया गया। सबसे बड़ी बात ये है कि कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल वहां क्या कर रहे थे।
 
इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सिब्बल इस तरह का काम करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि विचित्र बात तो ये है कि 2014 में ईवीएम हैकिंग का दावा किया गया है जबकि उस वक्त एनडीए की सरकार नहीं थी। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस का चरित्र ही भ्रामक खबरों को प्रचारित और प्रसारित करने का रहा है। लेकिन एक सच्चाई ये भी है कि वो लोग अपनी सभी कोशिशों में मुंह की खा रहे हैं। 
 
रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जब दूसरी पार्टियां जीतती हैं तो उस वक्त ईवीएम ठीक है। लेकिन बीजेपी की जीत पर ईवीएम अनेकों खामियां नजर आने लगती है। इसके साथ ही 2004 से ईवीएम का इस्तेमाल हो रहा है अगर इवीएम में इतनी खराबी थी, विश्वसनीयता नहीं थी तो मायावती, एसपी और  आप पार्टी को चुनावी समर में कामयाबी कैसे मिली।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS