ब्रेकिंग न्यूज़
श्री कृष्ण महोत्सव के रंग में रंगे स्कूली बच्चे, कृष्ण और राधा बन कर पहुंचे स्कूलस्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रंजीत के समर्थन में महिलाओं ने हाथों में चूड़ी लेकर किया बाजार भ्रमणपताही पुलिस ने पांच सौ बोतल लेमन फ्लेवर नेपाली कस्तूरी शराब किया बरामद, शराब माफिया फरारकिशोरावस्था में होने वाले बदलाव से जुड़ी भ्रांतियां मात्र एक क्लिक में होंगे दूर, स्वास्थ्य विभाग ने लांच किया साथिया सलाह मोबाइल एपपेरिस में 370 पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- अब भारत में कुछ भी टेम्परेरी नहीं होगानेपाल में जन्माष्टमी की धूम, ललितपुर के कृष्ण मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाबघाटी में अब तेज़ी से सामान्य होते जा रहे हैं हालात, खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का खौफशार्ट सर्किट से स्कूल बस में लगी आग, लपटों के बीच बच्चों को सुरक्षित निकाला गया
राष्ट्रीय
न्‍यू यंग इंडिया बनाने में मदद करें भारतीय मूल के लोग: सुषमा स्‍वराज
By Deshwani | Publish Date: 21/1/2019 2:33:59 PM
न्‍यू यंग इंडिया बनाने में मदद करें भारतीय मूल के लोग: सुषमा स्‍वराज

वाराणसी। भारत की सांस्‍कृतिक राजधानी वाराणसी में आयोजित यूथ प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने दुनियाभर में फैले भारतीय मूल के तीन करोड़ लोगों का आह्वान किया कि वे 2022 तक न्‍यू यंग इंडिया बनाने में अपना योगदान दें। उन्‍होंने कहा कि ऐसे समय पर जब दुनियाभर की बड़ी अर्थव्‍यवस्‍थाओं में बुजुर्गों की तादाद तेजी से बढ़ रही है, भारत सबसे युवा देश बनने की ओर अग्रसर है। 

 
सुषमा स्‍वराज ने कहा, 'भारत की 1.3 अरब की आबादी में 41 फीसदी लोग 20 साल के नीचे हैं। वर्ष 2020 तक भारत की औसत आयु 29 साल होगी और यह विश्‍व का सबसे युवा देश होगा। यही नहीं वर्ष 2022 तक अमेरिका, पश्चिमी यूरोप, जापान और चीन में 65 साल के बुजुर्गों की आबादी उनकी कुल आबादी का एक तिहाई हो जाएगी। उस समय भारत में सबसे ज्‍यादा कामगार आबादी होगी।' 
 
विदेश मंत्री ने कहा, 'युवा जनसंख्‍या की वजह से भारत के पास बड़ा मौका है और इससे वर्ष 2022 तक न्‍यू यंग इंडिया बनाने में मदद मिलेगी। भारत दुनिया में कुशल कामगारों का स्रोत बनेगा। हमारा स्किल इंडिया अभियान वर्ष 2022 तक भारत को स्किल कैपिटल बनाने के लिए है।' उन्‍होंने कहा कि भारत सरकार दुनियाभर में फैले भारतीयों की सुरक्षा और मदद के लिए प्रतिबद्ध है। 
 
उन्‍होंने कहा कि सोशल मीडिया के जरिए बेहद सक्रियता के साथ भारतीय मूल के लोगों से जुड़ने का प्रयास किया जा रहा है। विदेश मंत्री ने कहा कि दुनियाभर में फैले डॉक्‍टर, इंजिनियर, मैनेजर, सीईओ भारत की एक अलग छवि गढ़ रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि कई बहुराष्‍ट्रीय निगमों के सीईओ आज भारतीय हैं। यह बताता है कि भारतीय दुनिया का नेतृत्‍व कर रहे हैं।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS