ब्रेकिंग न्यूज़
बिहार में मोतिहारी की आदापुर पुलिस ने पाच करोड़ की चरस के साथ पांच नेपाली नागरिक को पकड़ाजिला प्रशासन ने अंतरजातीय विवाह करने वाले 10 दंपत्तियों को बतौर प्रोत्साहन 7.75 लाख की राशि प्रदान कियादैवीय आपदा, बेघर और कच्चे घरों में रहने वाले गरीब परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत निःशुल्क आवास उपलब्धदिनेशलाल यादव निरहुआ ने की बिहार में 500 थियेटर के साथ एजुकेशन को जोड़ने की पहलविभिन्न समस्याओं के समाधान की मांग को लेकर स्वच्छ रक्सौल संस्था द्वारा धरना आज तीसरा दिन भी जारी रहाशराब कारोबारी और पुलिस की कथित चूहा बिल्ली के खेल में हुई दुर्घटना में एक तेज रफ्तार होण्डा कार ने तीन लोगों को रौंदा, एक की मौतदूरदर्शन की मशहूर एंकर नीलम शर्मा का निधन, कैंसर से थीं पीड़ितकुशीनगर में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी
राष्ट्रीय
जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस संजीव खन्ना बने सुप्रीम कोर्ट के नए जज
By Deshwani | Publish Date: 18/1/2019 12:18:35 PM
जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस संजीव खन्ना बने सुप्रीम कोर्ट के नए जज

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस संजीव खन्ना ने जजों के रूप में आज शपथ ली। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने दोनों जजों को पद की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह शीर्ष अदालत के अदालती कक्ष संख्या एक में आयोजित हुआ।

 
सुप्रीम कोर्ट में जजों की स्वीकृत संख्या 31 है। जस्टिस माहेश्वरी एवं जस्टिस खन्ना के शपथ लेने के साथ ही सुप्रीम कोर्ट में कुल जजों की संख्या 28 हो गई है। जस्टिस माहेश्वरी जहां कर्नाटक हाईकोर्ट के प्रमुख न्यायाधीश रहे हैं वहीं जस्टिस खन्ना दिल्ली हाईकोर्ट में न्यायाधीश थे।
 
प्रधान न्यायाधीश गोगोई, जस्टिस ए के सीकरी, जस्टिस एस ए बोबडे, जस्टिस एन वी रमण और जस्टिस अरुण मिश्रा के पांच सदस्यीय कॉलेजियम ने 10 जनवरी को जस्टिस माहेश्वरी तथा जस्टिस खन्ना को शीर्ष अदालत का न्यायाधीश बनाने की सिफारिश की थी।
 
कॉलेजियम ने 12 दिसंबर 2018 को पदोन्नति के लिए राजस्थान हाईकोर्ट और दिल्ली हाईकोर्ट के मुख्य जजों क्रमश: जस्टिस प्रदीप नंद्रजोग और जस्टिस राजेंद्र मेनन के नामों पर विचार किया था लेकिन कोई निर्णय नहीं हुआ। 30 दिसंबर 2018 को कॉलेजियम के एक सदस्य जस्टिस एम बी लोकूर सेवानिवृत्त हो गये थे।
 
जस्टिस अरुण मिश्रा ने कॉलेजियम में उनकी जगह ली। दस जनवरी को नए कॉलेजियम ने पदोन्नति के उनके प्रस्ताव को नजरअंदाज कर दिया था। भारतीय बार परिषद (बीसीआई) ने बुधवार को कई जजों को नजरअंदाज करके जस्टिस संजीव खन्ना की पदोन्नति की कॉलेजियम की सिफारिश पर विरोध जताया था।
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS