ब्रेकिंग न्यूज़
श्री कृष्ण महोत्सव के रंग में रंगे स्कूली बच्चे, कृष्ण और राधा बन कर पहुंचे स्कूलस्वच्छ रक्सौल संस्था के अध्यक्ष रंजीत के समर्थन में महिलाओं ने हाथों में चूड़ी लेकर किया बाजार भ्रमणपताही पुलिस ने पांच सौ बोतल लेमन फ्लेवर नेपाली कस्तूरी शराब किया बरामद, शराब माफिया फरारकिशोरावस्था में होने वाले बदलाव से जुड़ी भ्रांतियां मात्र एक क्लिक में होंगे दूर, स्वास्थ्य विभाग ने लांच किया साथिया सलाह मोबाइल एपपेरिस में 370 पर बोले प्रधानमंत्री मोदी- अब भारत में कुछ भी टेम्परेरी नहीं होगानेपाल में जन्माष्टमी की धूम, ललितपुर के कृष्ण मंदिर में उमड़ा भक्तों का सैलाबघाटी में अब तेज़ी से सामान्य होते जा रहे हैं हालात, खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का खौफशार्ट सर्किट से स्कूल बस में लगी आग, लपटों के बीच बच्चों को सुरक्षित निकाला गया
राष्ट्रीय
ओडिशा को पीएम मोदी ने दिया तोहफा, 1545 करोड़ की परियोजनाओं का हुआ शुभारंभ
By Deshwani | Publish Date: 15/1/2019 12:31:46 PM
ओडिशा को पीएम मोदी ने दिया तोहफा, 1545 करोड़ की परियोजनाओं का हुआ शुभारंभ

भुवनेश्वर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा में आज कई परियोजना का उद्घाटन किया। बौध जिले में नीलमाधव और सिद्धेश्वर मंदिर के नवीनीकरण एवं जीर्णोद्धार संबंधी कार्यों का उद्घाटन किया। साथ ही उन्होंने 115 करोड़ रुपए की लागत से तैयार बलांगीर-बिछुपाली रेलवे लाइन और सोनपुर में 15.81 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली, केंद्रीय विद्यालय की स्थायी इमारत के लिए आधारशिला रखी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओड़िशा में बलांगीर-बिछुपाली मार्ग पर नई ट्रेन को हरी झंडी दिखाई।

 
लोगों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, आप इतनी बड़ी संख्या में हमें आशीर्वाद देने आए इसके लिए मैं आपको सर झुकाकर नमन करता हूं। थोड़ी देर पहले ओडिशा के विकास से जुड़ी 1500 करोड़ से अधिक परियोजनाओं का  लोकार्पण, उद्घाटन और शिलान्यास मैंने किया है। एक महीने के भीतर 20,000 करोड़ रुपए से अधिक की विकास परियोजनाओं पर काम या तो शुरू हुआ है या फिर लोकार्पण हो चुका है।
 
उन्होंने कहा कि ओडिशा के हर जिले में आस्था के ऐसे महत्वपूर्ण स्थल हैं जो हमारी सांस्कृतिक संपदा के प्रतीक हैं। दुनिया की सबसे पुरातन सभ्यताओं में से एक हमारी सभ्यता की पहचान हैं। हमारे पूर्वजों के कौशल के प्रमाण हैं। ओडिशा में भारत के गौरवशाली इतिहास, हमारी सभ्यता और संस्कृति की बहुमूल्य धरोहरें है।
 
विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि वो दल जिन्हें देश ने दशकों तक सरकार चलाने का अवसर दिया, भारत के गौरव को बढ़ाने का मौका दिया, उनके साथ ये आपराधिक भूल हमेशा-हमेशा चिपकी रहेगी। हैरानी की बात ये है कि उन्होंने आज भी इससे सबक नहीं लिया है। आदिवासी हकों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने खनन कानून में एक बड़ा संशोधन किया है।
 
उन्होंने कहा कि ऐसा समय था जब मूर्तियां मंदिरों से चोरी हुई थीं। आज हम उन्हें दूसरे देशों से वापस लाने की कोशिशें कर रहे हैं। कुछ पार्टियां अतंरराष्टीय योगदिवस मनाने के खिलाफ थीं। उन्होंने सरदार वल्लभभाई पटले की मूर्ति पर सवाल उठाए थे। वह अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के नाम बदले जाने के भी खिलाफ थीं। जब हम सबका साथ, सबका विकास की बात करते हैं तो हमारे आदिवासी अंचलों में रहने वाले बहन-भाइयों पर विशेष ध्यान हैं। आपके संरक्षण के कारण ही आज भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर का इतने व्यापक निर्माण हो पा रहा है।
 
पीएम ने कहा, हमारी सरकार ने बीते साढ़े 4 सालों में देश में 6 करोड़ से ज्यादा फर्जी राशन कार्ड, फर्जी गैस कनेक्शन, गलत नाम से स्कॉलरशिप पाने वाले, गलत नाम से पेंशन हथियाने वाले, ऐसे फर्जी नामों को रद्द किया है। फर्जी नामों के रद्द होने के कारण अब गरीबों को सस्ते राशन का भी रास्ता साफ हुआ है।
 
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को ओडिशा जाने से पहले संक्षिप्त प्रवास पर रायपुर विमानतल पहुंचे जहां मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री ने उनका स्वागत किया। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने आज यहां बताया किे प्रधानमंत्री मोदी नई दिल्ली से ओडिशा जाने के दौरान विशेष विमान से सुबह राजधानी रायपुर के माना स्थित स्वामी विवेकानंद विमानतल पहुंचे और संक्षिप्त प्रवास के बाद वायु सेना के हेलीकॉप्टर से ओडिशा के बोलांगीर जिला के लिए रवाना हुए।
 
अधिकारियों ने बताया कि विमानतल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने संवाददाताओं को बताया कि मोदी से उनकी गर्मजोशी से मुलाकात हुई तथा प्रधानमंत्री ने उन्हें बधाई भी दी। मुख्यमंत्री बनने के बाद बघेल की प्रधानमंत्री मोदी से यह पहली मुलाकात थी। वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री दोपहर बाद हेलीकॉप्टर से रायपुर आकर यहां से विशेष विमान द्वारा त्रिवेन्द्रम (केरल) के लिए रवाना होंगे
image
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS